-Congress-President's-name-missing-from-Congress-hoardings-hot-discussions

ग्वालियर।  शहर के जयारोग्य अस्पताल परिसर में बनने वाले  हजार बिस्तर के अस्पताल के भूमिपूजन को लेकर जहाँ भाजपा और कांग्रेस दोनों आमने सामने हैं| वहीं कांग्रेस द्वारा लगाए गए होर्डिंग शहर में चर्चा का विषय बने हुए हैं।  खास बात ये है कि इन होर्डिंगों पर कांग्रेस के जिला अध्यक्ष का फोटो ही गायब है।  

लोकसभा चुनावों के नजदीक आने के कारण अब भूमिपूजन, लोकार्पण, शिलान्यास, उद्घाटन  आदि के लिए नेताओं में होड़ मची है। ग्वालियर  में भी ऐसा ही कुछ होने जा रहा है कल यानि पांच मार्च गुना शिवपुरी सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया जयारोग्य अस्पताल में बनने वाले एक हजार बिस्तर के अस्पताल का भूमिपूजन करेंगे।  हालाँकि 2009 में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान , तत्कालीन चिकित्सा शिक्षा मंत्री अनूप मिश्रा के साथ इसका भूमिपूजन  कर चुके हैं इसीलिए अनूप मिश्रा के नेतृत्व में भाजपा इसका विरोध कर रही है।  

उधर कांग्रेस अस्पताल के भूमिपूजन को लेकर बहुत उत्साहित है।  उसने शहर में होर्डिंग, बैनर लगा दिए हैं मगर यही होर्डिंग, बैनर शहर में चर्चा का विषय बने हैं।  पार्टी ने नदी गेट जयविलास पैलेस के आसपास कुछ होर्डिंग लगाए हैं जिसमेंसांसद सिंधिया के साथ राष्ट्रिय अध्यक्ष राहुल गांधी, मुख्यमंत्री कमलनाथ, जिले के प्रभारी  मंत्री उमंग सिंगार, खाद्य मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, पशुपालन मंत्री लाखन सिंह , महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी, विधायक मुन्नालाल गोयल और विधायक प्रवीण पाठक के फोटो लगे हैं।  निवेदक के तौर  पर शहर जिला कांग्रेस कमेटी लिखा है लेकिन जिला अध्यक्ष डॉ देवेंद्र शर्मा का फोटो गायब है। पूरे मामले में जिला अध्यक्ष का कहना है कि नदी गेट पर होर्डिंग लगे देखे हैं और उसपर लिखा शहर जिला कांग्रेस कमेटी पढ़ा है।  वे सफाई देते हुए कहते हैं कि ये होर्डिंग हमने नहीं लगवाए। अब ऐसे में  उठता है कि शहर जिला कांग्रेस कमेटी के नाम पर किसने ये  होर्डिंग लगाए।  और यदि कांग्रेस के किसी कार्यकर्ता ने यदि लगवाए हैं तो उसपर जिला अध्यक्ष का फोटो क्यों नहीं लगाया।  बहरहाल इतना तो  स्पष्ट है कि ग्वालियर कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा।