नगर निगम का सफाई दरोगा 5000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार, लोकायुक्त की कार्रवाई

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। ग्वालियर की लोकायुक्त पुलिस ने गुरुवार की सुबह सुबह कार्रवाई करते हुए नगर निगम के सफाई दरोगा को 5000 रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। सफाई दरोगा एक कर्मचारी से उसका वेतन निकालने के लिए रिश्वत मांग रहा था।

लोकायुक्त पुलिस के मुताबिक आवेदक नगर निगम कर्मचारी लक्ष्मण खरे ने शिकायत की थी कि नगर निगम का चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर (सफाई दरोगा) अशोक धवल उनका वेतन निकालने में परेशान कर रहा है और रिश्वत मांग रहा है। आवेदक के मुताबिक उसके करीब 60 हजार रुपये फंसे हुए है जिसको निकालने के लिए अशोक धवल 10 प्रतिशत रिश्वत मांग रहा है लेकिन सौदा 5000 रुपये में तय हो गया।

Read More:  Transfer: मप्र में हुए अधिकारियों के तबादले, यहां देखें लिस्ट

शिकायत के बाद लोकायुक्त ने लक्ष्मण खरे को समझाइश देकर भेजा। आज गुरुवार को सुबह लक्ष्मण खरे ने अशोक धवल को पड़ाव स्थित डफरिन सराय नगर निगम स्टाफ क्वार्टर के पास बुलाया और रिश्वत के 5000 रुपये दिये पहले से मौजूद लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया।

नगर निगम के चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर को ट्रेप करने के बाद लोकायुक्त टीम उसे अपने ऑफिस ले गई। जहाँ उससे पूछताछ जारी है। डीएसपी प्रद्युम्न पाराशर के नेतृत्व में अशोक धवल को ट्रेप करने की कार्रवाई करने वाली टीम में इंस्पेक्टर आराधना डेविस, इंस्पेक्टर राघवेंद्र ऋशिश्वर्, इंस्पेक्टर राघवेंद्र तोमर, ब्रजमोहन नरवरिया सहित लोकायुक्त पुलिस ग्वालियर का अन्य स्टाफ शामिल था।

नगर निगम का सफाई दरोगा 5000 की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार, लोकायुक्त की कार्रवाई from MP Breaking News on Vimeo.