Indore News : मंत्री पर आरोप लगाने वाले डिप्टी रेंजर ने किया इनाम घोषित, पुलिस का कार्रवाई से इंकार

डिप्टी रेंजर राम सुरेश दुबे (Deputy Ranger Ram Suresh Dubey) ने वन परिसर से ले जाई गई जेसीबी व ट्रैक्टर ट्रॉली को ढूंढने वाले और पता बताने वाले के लिए 5 हजार का इनाम घोषित किया है।

indore

इंदौर, आकाश धोलपुरे। शिवराज सरकार (Shivraj Government) में पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर पर डकैती का आरोप लगाने वाले इंदौर (Indore) के डिप्टी रेंजर राम सुरेश दुबे (Deputy Ranger Ram Suresh Dubey) ने वन परिसर से ले जाई गई जेसीबी व ट्रैक्टर ट्रॉली को ढूंढने वाले और पता बताने वाले के लिए 5 हजार का इनाम घोषित किया है।डिप्टी रेंजर के मुताबिक उन्होंने आस पास गाँव सहित अन्य स्थानों पर वाहन तलाशे लेकिन नही मिले ।लिहाजा, अब उन्होंने स्वयं 5 हजार के इनाम की घोषणा की है वही वो अब वाहनो को ढूंढने ले लिए टोल नाको और सीसीटीवी फुटेज भी खंगाल रहे है।

दरअसल, इंदौर (Indore) के महू के बड़गोंदा थाने में कुछ समय पहले आये एक शिकायती आवेदन ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की सियासत गरमा दी थी। थाना क्षेत्र में जनवरी माह में वन क्षेत्र में अवैध खुदाई को लेकर वन विभाग (Forest department) ने कक्ष क्रमांक 66 में कार्रवाई कर जेसीबी और ट्रैक्टर ट्रॉली को जब्त कर लिया था। जिसके बाद वन परिसर से वाहन गायब हो गए थे, ऐसे में वन विभाग के वनपाल राम सुरेश दुबे ने पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर (Minister Usha Thakur) और उनके समर्थक मनोज पाटीदार, सुनील यादव सहित करीब 15 से ज्यादा लोगो के खिलाफ डकैती डालकर वाहन चुराने और शासकीय कार्य मे बाधा डालने का आवेदन दिया था।

बाद मामले ने कई मोड़ लिए मंत्री उषा ठाकुर ने सफाई दी कि लोगो के एक्सीडेंट होते है उस सड़क पर ऐसे में 520 मतदाताओ के प्रति उनका कर्तव्य है कि वो सड़क को दुरुस्त करवाये और उसमें भी मिट्टी का उपयोग समर्थक के खेत से निकालकर किया गया था। इतना ही नही इसके वनपाल दुबे का तबादला (Transfer) हो गया। जांच में पता चला कि विवादित भूमि वन विभाग की बजाय राजस्व विभाग की है।

इधर, वन विभाग के बाद अब पुलिस (Indore Police) ने भी खुदाई करते हुए जब्त किए गए ट्रैक्टर व जेसीबी छुड़ाकर ले जाने के मामले में पर्यटन मंत्री ऊषा ठाकुर के समर्थकों पर कार्रवाई से इनकार कर दिया है। पुलिस ने वन विभाग के अफसरों पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि खुदाई निजी जमीन पर हो रही थी, कार्रवाई का कोई मामला नहीं बनता है।फिलहाल, इस पूरे मामले में आगे क्या होगा ये तो वक्त ही बताएगा लेकिन अब वनपाल दुबे ने तबादले और आरोपियों पर एफआईआर (FIR) करने के लिए हाई कोर्ट (High Court) में याचिका लगाई है।

कांग्रेस ने उठाए सवाल

कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा (Congress media coordinator Narendra Saluja) ने ट्वीट कर लिखा है कि सेल्यूट , कर्तव्यनिष्ठ , ईमानदार अफ़सर महू वन परिक्षेत्र के डिप्टी रेंजर रामसुरेश दुबे को शिवराज सरकार ने अवैध उत्खनन पर कार्यवाही और उसमें मंत्री उषा ठाकुर का नाम होने पर उनका सम्मान की बजाय तबादला कर दिया लेकिन उन्होंने अभी तक हिम्मत नहीं हारी ,उनका संघर्ष-लड़ाई जारी है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here