ऊर्जा मंत्री

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। मंत्री उषा ठाकुर (minister usha thakur) से पंगा लेने वाले डिप्टी रेंजर (deputy ranger) की छुट्टी कर दी गई है। दरअसल मामला इंदौर (indore) जिले का है जहां शिवराज सरकार (shivraj government) की पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर के खिलाफ एक डिप्टी रेंजर ने शिकायत दर्ज की थी। जिसके बाद आज डिप्टी रेंजर आरएस दुबे (RS Dubey) को सस्पेंड (suspend) कर दिया गया है।

दरअसल बीते दिनों महू के विधायक उषा ठाकुर पर वन विभाग के डिप्टी रेंजर द्वारा कार्यालय से अपने समर्थक की गाड़ी को छुड़वाने का आरोप लगाया गया था। मामले में डिप्टी रेंजर RS Dubey  द्वारा बड़गोंदा पुलिस को आवेदन देकर मंत्री उषा ठाकुर, भाजपा मंडल अध्यक्ष मनोज पाटीदार सहित भी समर्थकों के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की गई थी। डिप्टी रेंजर ने कहा था कि कार्यालय से जेसीबी व ट्रैक्टर ट्रॉली की डकैती का केस दर्ज किया जाए। इस मामले में डिप्टी रेंजर ने बताया था कि उनकी गैरमौजूदगी में वनकर्मियों को डराकर जबरदस्ती जब्त वाहन को छुड़ाया गया है।

Read More: आमिर खान और किरण राव ने की तलाक की घोषणा, बोले- शुरू होगा नया अध्याय

वहीं अब रेंजर RS Dubey को सस्पेंड कर दिया गया है। दुबे को सस्पेंड करने का कारण 2012 में उन्हें आउट ऑफ टर्न प्रमोशन (out of term) मिलना बताया गया है। बताया जा रहा है कि 2012 में जब RS dubey को प्रमोशन मिला था। उस में गड़बड़ी थी। जिसके बाद उसकी जांच के आदेश दिए गए थे। ज्ञात हो कि 2012 में APCCF स्तर के 5 सदस्य की कमेटी ने जांच के बाद दुबे को प्रमोशन दिया था।

इस बीच 1 वनकर्मी मुकेश यादव द्वारा सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) पर आरएस दुबे के खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी। हालांकि तब जांच के लिए बनी कमेटी ने इस मामले में दिलचस्पी नहीं दिखाई थी। वहीं अप्रैल 2021 में भी मनोज यादव ने सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की। जिसके बाद DFO रविंद्र पांडवा ने जांच कर प्रमोशन में गलत दस्तावेज प्रस्तुत होना बताया है।

अब इस मामले में डिप्टी रेंजर का कहना है कि उन्हें प्रमोशन पांच सदस्य APCCF की कमेटी द्वारा दिया गया था वहीं उन्होंने कहा कि उन्हें मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करने की सजा मिली है हालांकि दुबे प्रचार प्रकरण और भी है जिसकी जांच कराई जा रही है।