3 साल के मासूम सिर में धंसा तीर डॉक्टरों ने निकाला, आज लौटेगा घर

इंदौर।आकाश धौलपुरे।

प्रदेश का सबसे बड़ा शासकीय अस्पताल एम.वाय यूं तो अक्सर विवादों में घिरे रहने के चलते सुर्खियों में बना रहता है लेकिन अलीराजपुर के एक ग्रामीण क्षेत्र के परिजन अस्पताल के डॉक्टर्स को ईश्वर का रूप समझकर उनका आभार मान रहे है। हुआ ये की बीते शुक्रवार को आलीराजपुर जिले के एक ग्रामीण क्षेत्र रहने वाले 3 साल के मासूम बच्चे के सिर में 4 इंच तक तीर घुस गया। इसके मासूम के परिजन उसे लेकर आलीराजपुर के सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे लेकिन वहां डॉक्टरों ने मासूम को तुरंत इंदौर के एम.वाय. अस्पताल रेफर किया। घटना तकरीबन 9 घण्टे के बाद परिजन सिर में घुसे तीर के साथ बच्चे को लेकर एम.वाय. अस्पताल पहुंचे। समय बीतने के साथ साथ मासूम के सिर रक्त भी अधिक मात्रा में बह रहा था लिहाजा डॉक्टर्स की टीम ने डॉ. राकेश गुप्ता के मार्गदर्शन में डॉ. जफर शेख, सोनिया मोजेस, डॉ. रश्मि पॉल, डॉ. यशपाल ने बच्चे की जान पर बन रहे खतरे को देखते हुए तुरंत ऑपरेशन करने का निर्णय लिया। चूंकि घटना के बाद सिर पर लगा लकड़ी का हिस्सा हट गया था लेकिन तीर का मुख्य हिस्सा 4 इंच तक सिर में घुस चुका था लिहाजा तत्काल पहले बच्चे एक्सरे कराया और फिर ऑपरेशन करने का निर्णय लिया गया क्योंकि गुजरते वक्त के साथ इन्फेक्शन का खतरा भी था और दिमाग की मुख्य नस को नुकसान पहुंचने का खतरा था। ऐसे में एम. वाय. डाक्टर्स टीम ने 2 घण्टे के कठिन ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम तक पहुंचा दिया। फिलहाल, मासूम की हालत सामान्य बताई जा रही है और आज वह अपने घर भी जा सकेगा।