इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश के सभी शहरों में शुक्रवार शाम से लॉकडाउन शुरू होकर सोमवार सुबह तक जारी रहेगा। ये ही वजह है कि इंदौर में लॉकडाउन के पहले लोगों की भीड़ राशन के साथ ही अन्य व्यवस्थाओं को जुटाने की कोशिश में नजर आई। कहीं किराना व सब्जी के लिए भीड़ नजर आई तो वहीं कई लोग शराब के स्टॉक का इंतजाम करते भी नजर आए।

ये भी देखिये – ग्वालियर में कोरोना ब्लास्ट, पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 300 के नजदीक

दरअसल, इंदौर में कोरोना तेजी से फैल रहा है और प्रदेश के सीएम ने 60 घण्टे के लॉकडाउन का एलान प्रदेश के सभी शहरो के लिए कर दिया है। ऐसे में लोग अपनीअनिवार्य आवश्यकताओं की पूर्ति करने के लिए एक दिन पहले से ही तैयार हो गए। जैसे ही खबर लगी वैसे ही लोग कहीं मॉल तो कही किराना और सब्जी दुकानों की ओर दौड़ पड़े। लोगो को अंदेशा है कि लॉकडाउन आगे बढ़ सकता है लिहाजा वो एक सप्ताह तक की खरीदी कर रहे है ताकि कोई अनहोनी हो उसके पहले ही वो और उनका परिवार सुरक्षित रहे और खाने पीने में कोई दिक्कत न आये। इधर, किराना और सब्जी बेचने वालों की मानें तो आज उनके लिए कठिन समय रहा क्योंकि एक और बढ़ते लॉकडाउन की आशंका के चलते भीड़ बढ़ गई और दूसरी ओर निगम सब्जी विक्रेताओं को सब्जियों के विक्रय को पाबंद करने के लिए दबाव बना रहा है। इस बीच तस्वीर ऐसी भी सामने आई जो थोड़ी अलग है। दरअसल, 60 घण्टे के लॉक डाउन के पहले ही लोग शराब की व्यवस्था करते नजर आए और उन्होंने बाकायदा लाइन में लगकर 2 दिन से ज्यादा स्टॉक की खरीदी की।

फिलहाल, इंदौर में कोरोना और लॉक डाउन को लेकर हाहाकार मचा हुआ है क्योंकि हर कोई इसी आशंका में जी रहा है कि आने वाले समय मे लॉकडाउन बढ़ने की संभावना है। हालांकि, सवाल ये उठ रहा है कि सरकार किसी भी समय लॉकडाउन घोषित करे लेकिन अंतराल एक सप्ताह का देना चाहिये क्योंकि अचानक लागू की जाने वाली व्यवस्था वाकई हानिकारक होती है।