इंदौर : 5 हजार पाक शरणार्थियों के टीकाकरण को लेकर कांग्रेस पर उठाए सिंधी समाज ने सवाल

कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अमीनुल खान सूरी पाकिस्तानी शरणार्थियों के टीकाकरण को लेकर उठाये गए सवाल पर सिंधी समाजसेवी ने मुँह तोड़ जवाब दिया है।

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) में सांसद शंकर लालवानी (Shankar Lalwani) की पहल पर अब कांग्रेसी ही आमने- सामने आ गए है। दरअसल, इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने पाकिस्तान से आये सिंधी समाज के शरणार्थियों के कोरोना वैक्सिनेशन (corona vaccination) को लेकर राज्य से सरकार से विशेष कैंप लगाकर टीकाकरण की मांग की थी। जिसके बाद सरकार और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने सांसद की मांग पर काम करने की तैयारी भी शुरू कर दी है।

यह भी पढ़ें…सरकारी नौकरी 2021: 10वीं-12वीं के लिए यहां 1388 पदों पर निकली है भर्ती, सैलरी 60 हजार पार

दरअसल, इंदौर में रह रहे करीब 5 हजार पाकिस्तानी शरणार्थियों का टीकाकरण भी किया जाना है। उनके टीकाकरण के लिए कागजात के तौर पर उनके पासपोर्ट को आधार माने जाने की बात उठी थी। वहीं विशेष परिस्थितियों में परिवार के किसी एक सदस्य के कागजात के आधार पर भी टीकाकरण की बात सामने आ रही है।

इधर, बीजेपी सांसद द्वारा की गई इस पहल को लेकर कांग्रेस दो धड़ो में बंटती नजर आ रही है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अमीनुल खान सूरी पाकिस्तानी शरणार्थियों के टीकाकरण को पहले कराने को लेकर सवाल उठाए है। अमीनुल खान सूरी ने बताया कि मेरी जानकारी में आया है कि इंदौर सांसद ने इस तरह की पहल की है। उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि मै सांसद जी से ये पूछना चाहता हूं कि आपको 5 लाख से अधिक वोटो से जिताने वाली जनता कौन सी है ?क्या पाकिस्तान से आने वाले पाकिस्तानी नागरिकों ने आपको वोट डालने का काम किया था। उन्होंने कहा कि सबसे पहले इंदौर के लोगो को वैक्सीन लग जाये उसके बाद अन्य को लगे। सूरी ने आगे कहा कि सांसद का पाकिस्तान प्रेम जगज़ाहिर है। हम कई बार देख चुके है उसके बाद आप पाकिस्तानियो को लगवाइए, बांग्लादेशियो को लगवाइए हमे कोई दिक्कत नही है। पर सबसे पहले इंदौर की जनता को वैक्सिन लगनी चाहिए। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि कई लोगो को वैक्सीन का पहला डोज उपलब्ध नही है। ऐसे में सांसद एक तरफ कैंप लगाकर गैर देश के लोगो को वैक्सीन लगवाने की बात कह रहे है। शर्म आना चाहिए सांसद शंकर लालवानी को।

कांग्रेस का भी विरोध करेंगे
दूसरी तरफ कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अमीनूल खान सूरी के बयान पर उस वक्त बवाल मच गया जब शहर कांग्रेस उपाध्यक्ष और सिंधी समाज के समाजसेवी गोपाल कोडवानी ने अपनी ही पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता को पार्टी से निकाले जाने की मांग कर डाली। गोपाल कोडवानी ने कहा कि जब सिंधी समाजजनों के विरोध में इस तरह की बाते बीजेपी नेताओं द्वारा की जाती रही तब भी हमने विरोध किया था। ये बयान कांग्रेस का नही हो सकता है। यदि कांग्रेस का ये बयान है तो हम कांग्रेस का भी विरोध करेंगे। वही गोपाल कोडवानी ने कहा कि क्या अमीनूल खान सूरी पाकिस्तान को मजबूरी में छोड़कर आये सिंधी समाज के लोगो को टीका नही लगेगा और उनसे कोरोना फैला या उनको कोरोना हुआ तो क्या इसकी जिम्मेदारी अमीनूल खान सूरी लेंगे। कांग्रेस के शहर उपाध्यक्ष गोपाल कोडवानी ने कांग्रेस पार्टी से मांग की है कि वो कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता को पार्टी से बाहर निकाले।