नर्सिंग छात्रा की आत्महत्या का मामला, पुलिसकर्मी दोस्त पर प्रकरण दर्ज

 

इंदौर, आकाश धोलपुरे। धार जिले की कुक्षी तहसील के गंधवानी में हुई दोस्ती का परिणाम ये रहा कि दो दिन पहले नर्सिंग की तैयारी कर रही एक छात्रा ने खुद पर घासलेट डालकर आग लगा ली थी, जिसके बाद जलने से उसकी मौत हो गई थी। नर्स की ट्रेनिंग ले रही युवती की आत्महत्या मामले में अब नया मोड़ गया है। दरअसल, युवती की दोस्ती पिछले 3 साल गंधवानी में ही रहने वाले युवक से थी जो वर्तमान में रायसेन पुलिस में पदस्थ है और युवती की सुसाइड की वजह भी रायसेन का पुलिसकर्मी बना लिहाजा, इंदौर पुलिस ने अब पुलिसकर्मी के खिलाफ प्रकरण दर्ज उसकी तलाश शुरू कर दी है। पूरी घटना इंदौर के छत्रीपुरा थाना क्षेत्र की है। जहां वर्मा यूनियन हॉस्पिटल में नर्सिंग की ट्रेनिंग कर रही सारिका नामक नर्स इंदौर में एम.ओ.जी.स्थित सरकारी निवास पर 12 नवंबर को खुद पर घासलेट छिड़ककर आग लगा ली थी। नर्स सारिका आग में इतनी बुरी तरह झुलस गई तो उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद छत्रीपुरा पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी थी। पुलिस जांच के दौरान घटना स्थल से पुलिस को घासलेट की बॉटल के साथ ही मृतका सारिका का मोबाइल भी मिला था।

भावुक हुए कैलाश, इस अंदाज़ में दी कैलाश जी को श्रद्धांजलि

मोबाइल की जांच के बाद हुआ बड़ा खुलासा, सुसाइड मामले में आया नया मोड़

दरअसल, धार जिले के गंधवानी में रहने वाली सारिका सुसाइड मामले में जब इंदौर की छत्रीपुरा पुलिस जांच शुरू की तो सबसे पहले आत्महत्या की वजह जानने की कोशिश पुलिस द्वारा शुरू की गई। हालांकि पुलिस को जल्द ही कारण जानने में सफलता हाथ लग गई। दरअसल, घटनास्थल से नर्स का मोबाइल मिला था जिसकी व्हाट्सएप चैटिंग पुलिस ने खंगाली तो दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। दरअसल, व्हाट्सएप चैटिंग से जो तथ्य पुलिस के सामने आए है उसके मुताबिक नर्स की सुसाइड की वजह एक पुलिसकर्मी निकला जिसका नाम जयप्रकाश बघेल सामने आया है। 3 साल पहले से उसकी दोस्ती नर्स सारिका से थी और गंधवानी से ही उनकी दोस्ती शुरू हुई इसके बाद जयप्रकाश बतौर पुलिसकर्मी रायसेन में पदस्थ हो गया वही सारिका नर्स की ट्रेनिंग के लिए इंदौर आ गई। व्हाट्सएप चैटिंग से पुलिस को पता चला कि पुलिसकर्मी जयप्रकाश बघेल अक्सर सारिका को फोन पर प्रताड़ित करता था और वह उस पर शक करता था कि उसकी किसी अन्य लड़के से दोस्ती है और वह उससे भी बात करती है। जिसके बाद अक्सर दोनों में विवाद हुआ करते थे।आखिरकार, पुलिसकर्मी की प्रताड़ना से तंग आकर नर्स सारिका ने आत्मघाती फैसला लिया और उसने सरकारी निवास पर खुद को आग के हवाले कर दुनिया को अलविदा कह दिया।

CM Shivraj ने की कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा बैठक, अधिकारियों को मिले निर्देश

इधर, छत्रीपुरा थाना के उपनिरीक्षक नारायण डाबर ने बताया कि पुलिसकर्मी और नर्स दोनों 3 साल से दोस्त थे और अक्सर वो मिलते जुलते भी थे। पुलिस ने व्हाट्सएप चैट और मोबाइल से मिले अन्य तथ्यों के आधार पर धारा 306 के तहत रायसेन में पदस्थ पुलिसकर्मी जयप्रकाश बघेल के खिलाफ प्रकरण दर्ज उसकी तलाश शुरू कर दी है।