indore

इंदौर, आकाश धोलपुरे। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के तेजी से आधुनिक हो चले इंदौर (Indore) शहर में सेक्स रैकेट (Sex Racket) का पर्दाफाश हुआ है। ताज्जुब की बात ये है कि जहां से ये रैकेट संचालित हो रहा था वो बंगला किसी रिटायर्ड पुलिस अधिकारी भार्गव का बताया जा रहा है। इंदरौ पुलिस (Indore Police) के मुताबिक,  रिटायर्ड पुलिस अधिकारी ने मकान किराये से दे रखा था और किरायानामा सहित अन्य दस्तावेज की जांच पुलिस कर रही है। पुलिस ने मौके से 3 पुरुष व एक महिला को गिरफ्तार किया है।

दरअसल, घटना इंदौर (Indore) के विजय नगर थाना क्षेत्र के स्कीम नम्बर 74 की है जहां के एक बंगले में अक्सर बड़ी संख्या में महिलाओं व पुरुषों का आना जाना था जिसके चलते आस -पास रहवासियों को शक हुआ कि उक्त मकान में कुछ गड़बड़ है। जिसके बाद रहवासियों ने स्थानीय पुलिस से इस बात की शिकायत की। शिकायत में बाद विजयनगर पुलिस ने योजना बनाकर पहले तो एक पुलिसकर्मी को ग्राहक बनाकर भेजा। जब पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचा और उसने पुख्ता किया कि मौके पर गड़बड़ है तब महिला पुलिसकर्मियों के साथ विजय नगर पुलिस टीम ने रेड की। छापे के दौरान पुलिस ने एक महिला और तीन पुरुषों को मौके से गिरफ्तार किया है।

मिली जानकारी के मुताबिक जिस महिला को गिरफ्तार किया है वो महिला व्हाट्सएप (Whatsapp) और फेसबुक (Facebook)) के जरिये युवतियों की तस्वीरें दिखाकर ग्राहकों को उलझाती थी और देह व्यापार (Sex Racket) में लिप्त थी। वही जिस पुलिस रिटायर्ड पुलिस अधिकारी (Retired police officer) के घर ये धंधा चलता था वहाँ ऐशो आराम, शराब, डीजे और रात रुकने तक कि व्यवस्था थी। इतना ही नही एक अन्य महिला के भी गिरोह में शामिल रहने की बात सामने आई है जो अपने किसी ग्राहक के साथ इंदौर से बाहर दमन में है।

सीएसपी (Indore CSP) राकेश गुप्ता ने बताया कि रविवार रात डेढ़ बजे के लगभग पुलिस टीम ने मौके पर दबिश दी थी जहां मौके से तीन पुरुष अब्दुल कादिर निवासी खजराना, शरद रघुवंशी निवासी देवास (Dewas) और हिमांशु वैद निवासी लसूड़िया व एक महिला को गिरफ्तार किया। पकड़े गए आरोपियों में से एक आरोपी के एडवोकेट होने की बात भी सामने आई है जो आस पास के लोगो द्वारा सवाल उठाने पर रौब झाड़ता था। फिलहाल, पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर उन्हें कोर्ट में पेश कर दिया। वही रिटायर्ड डीएसपी भार्गव की भूमिका की जांच भी पुलिस कर रही है।