-BJP-objected-to-the-action-of-the-District-Election-Office

जबलपुर| मध्यप्रदेश की 6 सीटों के साथ जबलपुर लोकसभा सीट पर भी 29 अप्रैल को आमचुनाव की वोटिंग होनी है| इससे पहले भारत निर्वाचन आयोग की टीम ने आज जबलपुर पहुंचकर चुनाव तैयारियों का जायज़ा लिया|  इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के लीगल सैल ने निर्वाचन आयोग की टीम से कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तन्खा और जिला निर्वाचन कार्यालय के खिलाफ भी शिकायत की है|

बीजेपी के लीगल सैल ने पार्टी खर्च में जोड़े गए एक अख़बारी विज्ञापन को पेड न्यूज़ बताया है और उसका 19 लाख रुपयों का खर्च, कांग्रेस प्रत्याशी विवेक तन्खा के चुनाव खर्च में जोड़ने की मांग की है| वहीं बीजेपी प्रत्याशी राकेश सिंह के नॉमिनेशन के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में, तय संख्या से ज्यादा भाजपा नेताओं के घुसने पर उनके खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर को चुनौती दी है|

बीजेपी ने शिकायत की है कि जिला निर्वाचन अधिकारी को ज्यादा समर्थकों के भीतर घुसने पर रोक लगाना था लेकिन ऐसा करने की बजाय सीधे भाजपा नेताओं पर एफआईआर दर्ज कर ली गई| आज जबलपुर पहुंची चुनाव आयोग की केन्द्रीय पर्यवेक्षक वी.अमुथावल्ली से भाजपा ने ये भी शिकायत की है कि जिला निर्वाचन कार्यालय में दर्ज शिकायतों पर जांच की समयसीमा तय की जाए| फिलहाल निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने भाजपा की शिकायतों पर जांच के बाद कार्यवाई की बात की है|