CISF कंपनी कमांडर को महंगा पड़ा गाड़ी में पीली बत्ती और सायरन लगाकर रौब झाड़ना

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। जबलपुर में एक कंपनी कमांडर को पुलिस से होशियारी दिखाना महंगा पड़ गया, लाल पीली बत्ती, सर्च लाइट एवं सायरन लगाकर निजी वाहन में घूम रहे कंपनी कमांडर लाखन सिंह मरावी को गाड़ी सहित यातायात पुलिस के द्वारा यातायात थाना लाया गया। यातायात पुलिस ने मोटर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुये 6500 रुपये का चालान काटा। लाखन सिंह ने यातायात पुलिस की पूछताछ में पहले खुद को अनूपपुर के थाने का टीआई बताया लेकिन जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तो उसकी पोल खुल गई।

यह भी पढ़ें… भोपाल : IAS कल्पना श्रीवास्व की अनूठी पहल बनी मुहिम, लोगों ने की वृक्षों की पूजा

यातायात थाना प्रभारी राहुल तिवारी के अनुसार वाहन क्रमांक MP51-CA-5474 जिस में अनाधिकृत रूप से लाल पीली बत्ती, सर्च लाइट, सायरन लगाकर जा रहा था। ट्रैफिक पुलिस ने वाहन को रोककर पूछताछ शुरू कर दी तथा यातायात पुलिस के द्वारा वाहन को थाने लाकर वाहन से लाल पीली बत्ती, सर्च लाइट, सायरन को निकलवाया गया तथा तीन धाराओं के तहत 6500 रुपये का चालान काटा गया। वाहन मालिक जिसका नाम लाखन सिंह मरावी है जो पहले अपने आप को अनूपपुर के बिजुरी थाने में पदस्थ होना बता रहा था। पुलिस पड़ताल के बाद पता चला कि वह सीआईएसएएफ मे कंपनी कमांडर है।