कांग्रेस नेता की गोली मारकर हत्या, विरोध में गोटेगांव बंद, परिजनों ने लगाए ये आरोप

Congress-leader-shot-dead-gotegaon-shutdown-today

जबलपुर| नरसिंहपुर के कांग्रेस नेता और किसान कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सुरेंद्र राय की मौत से कांग्रेस में शोक की लहर दौड़ गई है। कांग्रेस नेता सुरेंद्र राय की हत्या को लेकर आज गोटेगांव बंद का एलान किया गया है। सुरेंद्र राय की हत्या को लेकर परिजनों ने खुलासा किया है कि इलाके के ही दबंग विक्रम राजपूत और अजय राजपूत ने ही उनकी गोली मारकर हत्या की है। परिजनों का आरोप। है कि किसी काम के ठेके को लेकर सुरेंद्र राय की हत्या की गई है मारने वाले भाजपा पार्टी से संबंध रखते है। घटना के बाद से ही आरोपी फरार हो गए है जिन्हें पुलिस तलाश कर रही है।  इस हत्या के विरोध में कल्चुरी समाज ने आज गोटेगांव बंद का आव्हान किया है। सुबह कल्चुरी समाज से जुड़े लोगों ने शहर में बाइक रैली निकालकर पुलिस को ज्ञापन दिया। समाजजनों ने पुलिस को चेतावनी दी है कि अगर तीन दिन में आरोपितों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो बड़ा जनआंदोलन होगा। वहीं समाजजनों ने परिवार के लिए सुरक्षा की भी मांग की है। मृत कांग्रेस नेता का शव पोस्टमॉर्टम के बाद जबलपुर से गोटेगांव के लिए रवाना किया गया है।

जानकारी के मुताबिक ग्राम बिछिया में सुरेंद्र राय अपने साथी कमलेश पाठक के साथ खड़े थे तभी हमलावर विक्रम और अजय वहाँ पहुँचे और दोनो पर बंदूक से फायरिंग कर दी। इधर इस घटना को लेकर मध्यप्रदेश के सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया का बयान सामने आया है। घटना की निंदा करते हुए उन्होंने इसे कायराना हरकत बताया है। सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया ने सुरेंद्र राय की मौत पर शोक जताते हुए कहा कि इस घटना के बाद मैंने नरसिंहपुर एसपी से फ़ोन पर चर्चा की है साथ ही उन्हें निर्देश दिए है कि हत्यारो की गिरफ्तारी के कड़े प्रयास किये जायें।  मंत्री ने कहा कि सुरेंद्र राय की मौत से पूरी कांग्रेस पार्टी में शोक की लहर है।

यह है मामला 

बता दें कि प्रदेश किसान कांग्रेस के उपाध्यक्ष सुरेन्द्र राय ठेकेदारी करते थे, वह अपने साथी कमलेश के साथ गुरुवार शाम बिछिया गांव में पुलिया निर्माण के काम के सिलसिले में पहुंचे थे। यहां पर पुलिया की ऊंचाई बढ़ाने को लेकर विक्रम सिंह और अजय सिंह से उनका विवाद हो गया। इसके बाद आरोपितों ने कांग्रेस नेता सुरेंद्र राय पर दो और कमलेश के ऊपर एक फायर कर दिया। राय को सीने और हाथ में गोली लगी।  घटना के बाद दोनों ही घायलों को इलाज के लिए जबलपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया जहाँ रास्ते मे सुरेंद्र राय ने दम तोड़ दिया था।