बच्ची को जन्मदिन पर मिला ऐसा तोहफा, पूरे परिवार की आंखे हो गई नम

जबलपुर में बच्ची के जन्मदिन को उसकी दोस्तों ने यादगार बना दिया। जन्मदिन पर बच्ची को ऐसा उपहार दिया जिसने उसके दर्द को काफी हद तक कम कर दिया।

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। पालतू जानवरों के साथ इस कदर रिश्ता बन जाता है कि वे परिवार के सदस्य की तरह महसूस होने लगते हैं और जब उनका विछोह होता है तो उनकी कमी वर्षों तक सालती रहती है। जबलपुर की रहने वाली बच्ची रत्निका के साथ भी ऐसा ही हुआ। कुछ दिन पहले उस बच्ची का पालतू डॉगी कीवी छत से गिरने के बाद चल बसा। बच्ची को उस 4 माह के डॉगी से इस कदर प्रेम था कि कुछ दिन तक तो वह उसकी याद में दिन रात रोती रही और उसके बाद उदासी उसके चेहरे से हटने का नाम नहीं ले रही थी। हमेशा चहकती मुस्कुराती रहे वाली इस बच्ची को देखकर उसकी साथी और उसे जानने वाले इस कदर परेशान थे कि आखिरकार उसे एक बार फिर पुरानी जिंदगी में कैसे लौटाया जाए, दोस्तों ने और परिचितों ने आपस में तय किया और फिर तरीका निकल गया।

यह भी पढ़े.. MPPEB पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2021 : 8 जनवरी से शुरू होगी परीक्षा, एडमिट कार्ड पर जाने नई अपडेट

बच्ची का जन्मदिन नजदीक था तो उसके दोस्तों और परिचितों ने तय किया। सब मिलकर ऐन जन्मदिन पर एक सुंदर से डॉगी पमेरियन पप्पी को खरीद लाए। एक बड़ा सा हवादार डिब्बा मंगाया गया जिसमें पपी को रखा गया और बच्ची को केक कटने के साथ ही वह डिब्बा यह कह कर दिया गया कि इसके अंदर जो केक है वो काफी जल्दी मेल्ट होता है इसीलिए इसे जल्दी खोल दो। बच्ची ने जैसे डिब्बा खोला, उसके चेहरे पर पपी को देखकर खुशी दौड़ गई। उन्हें उम्मीद नही थी कि जन्मदिन का यह तोहफा इतना खास और दिल के करीब होगा। पपी को देखते ही बच्ची और उसका परिवार भावुक हो गया, उनकी आँखों से आँसू बह निकले, फिलहाल पार्टी में मौजूद सारे बच्चे भी पपी को देखते ही खुश हो गए और वही पपी का नामकरण भी हुआ कीवी। जन्मदिन के मौके पर मिला तोहफा रत्निका के लिए अनमोल बन गया। जन्मदिन भले ही रातनिका का था मगर फिर तो पूरी पार्टी  उस पपी के नाम रही। दोस्तों के द्वारा दिए गए उस उपहार ने रतनिका की जिंदगी की वह कमी पूरी कर दी जिसे वह कुछ महीनों से मिस कर रही थी। बच्ची को लगता है कि उसका बिछड़ा हुआ डॉगी वापस लौट आया है और एक बार फिर उसके जीवन में जो कमी हुई थी वह पूरी हो गई है। सचमुच दोस्त भले ही मां के गर्भ से जन्म नहीं लेते लेकिन जिंदगी के हर गम को परिवार के लोगों से ज्यादा दूर करने की भरसक कोशिश करते हैं जो इस बच्ची के दोस्तों ने किया।