ढोंगी बाबा गिरफ्तार, पूजा पाठ के नाम पर करता था ठगी

इस ढोंगी बाबा ने आमजन की समस्या को बताकर उन्हें अपने जाल में फसा लेता था और उनके साथ ठगी कर देता था यह बाबा पहले भी जेल जा चुका है।

जबलपुर,संदीप कुमार। मध्यप्रदेश में ठगी की कई बड़ी घटनाएँ सामने आए दिन आती रहती हैं, अब ऐसा ही मामला जबलपुर (Jabalpur) से आ रही है जहाँ पुलिस ने एक ऐसे ढोंगी बाबा को गिरफ्तार किया हैं जो पूजा पाठ के नाम पर लोगों के रुपए को 10 गुना तक करने का झांसा देकर उनको अपने जाल में फंसाया करता था। फिर उनके साथ धोखा करके कीमती जेवरात को पार कर दिया करता था। इस ढोंगी बाबा का नाम कृष्ण कुमार नामदेव बताया जा रहा है, वहीं पुलिस ने आरोपी के पास से सोने का एक हार, एक मंगलसूत्र, एक चैन, एक अंगूठी, एक झुमकी,एक जोड़ी टॉप्स,चांदी के 1 जोड़ी पायल,एक हाफ करधन,एक मोटरसाइकिल, 70000 रुपए नगद, दो चेक बुक, सोने जैसे दिखने वाली 50 मुहर, एक पासबुक और 20 लाख रुपए के नकली नोट बरामद किए हैं।

एस.पी सिद्धार्थ बहुगुणा ने जानकारी देते हुए बताया कि धनवंतरी नगर पुलिस चौकी ने ढोंगी बाबा कृष्ण कुमार नामदेव को अंधमूक बाईपास के पास से गिरफ्तार कर उसे जेल भेज दिया गया है। यह बाबा किसी भी वारदात को अकेले नहीं करता था इसका एक और शातिर साथी था दोनों ही साथ मिलकर किसी भी घटना को अंजाम देते थे। यह पूजा पाठ के नाम पर लोगों को आसानी से ठगी का शिकार बना लिया करते थे।

ढोंगी बाबा गिरफ्तार, पूजा पाठ के नाम पर करता था ठगी

बता दें कि आरोपी मूलतः खमरिया थाना के ग्राम पिपरिया का रहने वाला था। यह काफी साल पहले आरोपी के पिता ने अपना मकान बेचकर रांझी इंदिरा नगर में आकर किराए के मकान में रहने लगे थे। शुरुआत में आरोपी कृष्णकुमार ने सब्जी का ठेला लगाया फिर फल का ठेला भी लगाने लगा। बाद में कुछ दिन अपने बड़े भाई के साथ चाय का ठेला भी लगाया। इसी दौरान ग्वारीघाट निवासी रंजीत नाम के व्यक्ति से आरोपी की मुलाकात हो गई जो की गड़ा धन निकालने की कला में बड़ा ही माहिर था।

ढोंगी बाबा गिरफ्तार, पूजा पाठ के नाम पर करता था ठगी

गौरतलब यह है कि दोनों ही आरोपियों ने अभी तक कई लोगों के साथ धोखाधड़ी भी कर चुके थे। रंजीत आरोपी कृष्ण कुमार को लेकर अपने साथ इलाहाबाद ले गया। यहां पर भी इन दोनों ने कुछ लोगों के घर में गड़ा धन का लालच देकर उसे निकालने का कहकर 4 से 5 हजार रुपए ठग लिया करते थे। दोनों आरोपी गड़ा धन निकालते समय मटकी में मिट्टी के साथ चांदी के 4 से 5 सिक्के रख देते थे और लोगों को धोखा देकर पैसे ले लिया करते थे। इसी दौरान आरोपी कृष्ण कुमार ने इलाहाबाद में रहने वाली एक महिला को भगाकर अपने साथ जबलपुर ले आया था जो कि कुछ साल तक इसके साथ रहने के बाद अभी वर्तमान में चित्रकूट में रह रही है।