जबलपुर नकली रेमडेसिवीर मामला, सरबजीत सिंह मोखा और देवेश चौरसिया को भेजा जेल

नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन मामले में सिटी अस्प्ताल संचालक सरबजीत सिंह मोखा और देवेश चौरसिया के खिलाफ रासुका की कार्यवाही करते हुए जेल भेजा गया है

जबलपुर, संदीप कुमार। नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन ( Remdesivir Injection) को लेकर देश भर में सुर्खियों में आए मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) और जबलपुर (Jabalpur) में गुजरात पुलिस ने डेरा डाला हुआ है,आठ से दस सदस्यी गुजरात पुलिस की टीम आज जबलपुर के ओमती थाना पहुँची है जहाँ जबलपुर पुलिस से इस पूरे मामले की जानकारी जुटा रही है।

यह भी पढ़ें…जबलपुर से चलने वाली यह ट्रेनें आगामी आदेश तक रद्द, ये है बड़ा कारण

सिटी अस्प्ताल संचालक सहित 3 लोगो को किया गया है गिरफ्तार
नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन को गुजरात से लाकर मध्यप्रदेश में खपाने को लेकर अहम भूमिका निभाने वाले सपन जैन को जहाँ कुछ दिन पहले ही गुजरात पुलिस ने जबलपुर के आधारताल से गिरफ्तार किया गया था जबकि मध्यप्रदेश की जबलपुर पुलिस ने सरबजीत सिंह मोखा और देवेश चौरसिया को गिरफ्तार किया है।

गुजरात पुलिस ले सकती है पुलिस रिमांड
सरबजीत सिंह मोखा और देवेश चौरसिया के गिरफ्तार होने के बाद अब इनसे पूछताछ के लिए मोरवी जिले की पुलिस जबलपुर पहुँच गई है ,सूत्रों के मुताबिक नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन मामले में गुजरात पुलिस दोनो ही आरोपी से पूछताछ के लिए रिमांड ले सकती, अभी गुजरात पुलिस कंट्रोल रूम जबलपुर में रुकी हुई है।

जबलपुर पुलिस करेगी गुजरात पुलिस की हर मदद
इधर जबलपुर पहुँची गुजरात पुलिस की हर मदद करने की एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बात कही है, एसपी ने कहा कि अभी गुजरात पुलिस जबलपुर आई है उन्हें जो भी मदद की जरूरत होगी वह हम करेंगे इसके अलावा हमे लगता है कि हमे कुछ इनपुट चाहिए तो उनकी मदद भी हम लेंगे।

सरबजीत सिंह मोखा और देवेश चौरसिया को जेल
नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन मामले में सिटी अस्प्ताल संचालक सरबजीत सिंह मोखा और देवेश चौरसिया के खिलाफ रासुका की कार्यवाही करते हुए जेल भेजा गया है, जबलपुर में पुलिस प्रशासन की इस कार्यवाही के बाद से हड़कप मचा हुआ है।

यह भी पढ़ें…जबलपुर- गांवों में बढ़ता कोरोना संक्रमण, स्वास्थ्य विभाग की टीम सतर्क