Jabalpur: सांसद की स्पोर्ट सिटी प्रस्तावना को मिली मंजूरी, युवा कांग्रेस और पुलिस के बीच झड़प, 150 से ज्यादा गिरफ्तार

सांसद राकेश सिंह के कार्यालय का घेराव करने जा रहे हैं मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया सहित करीब डेढ़ सौ से ज्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है

jabalpur

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (jabalpur) में सांसद (mp) राकेश सिंह ने डुमना से लगे जंगल में स्पोर्ट सिटी (sports city) प्रस्तावित की जिसको लेकर लगभग मंजूरी भी मिल गई है। इस मामले में युवा कांग्रेस (youth congress) के कार्यकर्ताओं ने विरोध करना शुरू कर दिया है। उनका कहना है कि जंगल में अगर स्पोर्टस सिटी बनती है तो निश्चित रूप से ना सिर्फ वहां रहने वाले जंगली जानवर (wild animals) प्रभावित होंगे बल्कि जंगल को भी काटा जाएगा।

यह भी पढ़ें… Bhopal News : कलेक्टर ने कहा “जो परिवार से करे प्यार, वो वैक्सीनेशन से कैसे करे इंकार”

युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया के नेतृत्व में आज सैकड़ों युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने राइट टाउन स्थित सांसद राकेश सिंह के कार्यालय का घेराव करने की कोशिश की पर पुलिस ने युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को मदन महल थाने के पास ही बैरिकेड लगाकर रोक दिया, इसके बावजूद भी जब युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता नहीं रुके तो फिर उनके ऊपर पानी की बौछारें छोड़ी इस दौरान पुलिस से प्रदर्शनकारियों की झड़प भी हुई

युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने कहा कि आज पूरे देश में जंगल बचाने की मुहिम चल रही है पर जबलपुर सांसद राकेश सिंह ने महज अपने स्वार्थ के लिए डुमना से लगे जंगल में स्पोर्टस सिटी प्रस्तावित करवाई पर वह यह नहीं जानते हैं कि जंगली जानवरों को किसी खसरे या रकवे की जरूरत नहीं होती है। प्रदेश भर के युवा कांग्रेस कार्यकर्ता आज अपने साथ बनावटी पेड़ लेकर भी आए थे जिसे वह सांसद राकेश सिंह को सौंपना चाहते थे पर पुलिस ने उन्हें रोक लिया।

यह भी पढ़ें… Undertaker ने खिलाड़ी Akshay Kumar को लड़ाई को लिए किया चैलेंज, एक्टर ने दिया ये जवाब

डेढ़ सौ से ज्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार
सांसद राकेश सिंह के कार्यालय का घेराव करने जा रहे हैं मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विक्रांत भूरिया सहित करीब डेढ़ सौ से ज्यादा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, सभी गिरफ्तार किए कार्यकर्ताओं को खुली जेल में ले जाया गया है जहां पर उन पर आगे की कार्यवाही की जा रही है।