Jabalpur News: नशीली इंजेक्शन बेच रहे थे माँ-बेटे, पुलिस ने धर दबोचा

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर कोतवाली थाना पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक व्यक्ति कार से निकलने वाला है। जिसके पास नशीले इंजेक्शन रखे हुए है। सूचना के बाद तुरंत ही थाना प्रभारी कोतवाली ने वाहन चैकिंग लगाई और दमोह नाका में एक कार को पकड़ा। जिसमे की 300 से ज्यादा नशीले इंजेक्शन रखे हुए थे। पूछताछ में पता चला की कार चालक का नाम आशीष राजपूत है और वो इन नशीले इंजेक्शन को बेचने जा रहा था।

लंबे समय से इंजेक्शन के काले कारोबार में था लिप्त

जानकारी के मुताबिक आशीष राजपूत लंबे समय से नशीले इंजेक्शन के काले कारोबार में लिप्त था। आरोपी आशीष रोजाना नशीले इंजेक्शन को भारी मात्रा में खरीद कर उसे शहर के इलाको में बेचा करता था। थाना प्रभारी कोतवाली ने बताया कि दमोह नाका में चैकिंग के दौरान आशीष की कार से 300 इंजेक्शन और 250 एम्प्युल मिले।

Read More: RTI के तहत नहीं दी जानकारी, राज्य सूचना आयोग ने टीआई पर लगाया 25 हजार का जुर्माना

घर पर भी माँ बेच रही थी नशीले इंजेक्शन

आशीष राजपूत के गिरफ्तार होने के बाद कोतवाली थाना प्रभारी अनिल गुप्ता ने उसके घर पर महिला पुलिस स्टाफ के साथ छापा मारा तो वहाँ पर उसकी माँ माया राजपूत को भी नशीले इंजेक्शन बेचते हुए पुलिस ने गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस ने माँ-बेटे को गिरफ्तार कर जाँच शुरू कर दी है।