MP News: किसानों की समस्या बढ़ी, समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी में आई ये अड़चन

पोर्टल बन्द होने पर अधिकारी की दलील

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश सरकार समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी कर रही है। जिसके लिए किसानों को मैसेज भी भेजे गए पर अचानक ही राज्य सरकार के पोर्टल में खरीबी आ जाने से सैकड़ों किसानों की मूंग केंद्रों में धरी की धरी रह गई। अब आलम यह है कि समर्थन मूल्य में खरीदी न होने से किसान ओने-पौने दाम में अपनी उपज व्यपारियो को बेचने के लिए मजबूर है। इधर पोर्टल बन्द होने पर प्रशासनिक अधिकारी अलग ही राग अलाप रहे है।

मूंग खरीदी के लिए प्रशासन ने बनाए है 19 खरीदी केंद्र

जबलपुर जिले में मूंग की समर्थन मूल्य में खरीदी करने के लिए प्रशासन ने 19 केंद्र बनाए थे। तय समय मे खरीदी का मैसेज मिलने के बाद किसान खरीदी केंद्र भी पहुँचे। पर पोर्टल में ख़रीबी आने के कारण बीते चार दिनों से मूंग की खरीदी नही हो पा रही है। केंद्र में मूंग बेचने आए कुछ किसान अपनी मूंग को कम दामो में व्यापारी को बेचने के लिए अब मजबूर है। किसान बताते है कि चार दिनों से पोर्टल बन्द है। मौषम भी खराब है। इसलिए मजबूरी में कम दामो पर व्यापारी को अपनी उपज बेचना पड़ रहा है।

अभी तक 12 हजार मीट्रिक टन खरीदी गई है मूंग

मूंग खरीदी के लिए जबलपुर जिले में 19 केंद्र बनाए गए थे। जहां पर कि अभी तक 41 किसानों से समर्थन मूल्य पर 12.200 मैट्रिक टन मूंग की खरीदी की जा चुकी है। इसमें लगभग 10962 मेट्रिक टन का परिवहन भी हो चुका है। 27 किसानों से 72 मेट्रिक टन उड़द की भी खरीदी गई है। इसके अलावा प्रशासन के माध्यम से एनआईसी ने लगभग 15000 किसानों को एसएमएस भेजा है।

Read More: MP Board: इस दिन आएंगे 12वीं के परीक्षा परिणाम! तैयारी पूरी, ऐसे करें डाउनलोड

खरीदी बन्द-किसान कर रहे है रखवाली

किसानों को मैसेज आ गए है उंन्होने अपनी फसल लाकर केंद्रों में भी रख दी है पर पोर्टल खराब हो जाने से अब किसान परेशान है। मंडी प्रांगण में चोरी हो रही है और किसान खुद अपनी उपज की रखवाली कर रहे है। किसान बताते है कि समर्थन मूल्य में जहाँ 8 हजार रु प्रति क्विंटल मूंग खरीदी जा रही थी। वही अब पोर्टल बन्द होने से व्यापारी किसानों से साढ़े पांच से छह हजार रु किवंटल मूंग खरीद रहे है। ऐसे में अब न चाहते हुए भी किसान अपनी फसल व्यापारी को बेच रहे है।

पोर्टल बन्द होने पर अधिकारी की दलील

बीते चार दिनों से बन्द पोर्टल इस सप्ताह भी चालू होने की उम्मीद नही है। इधर कृषि विभाग के उप संचालक का पोर्टल बन्द होने पर कहना है कि तकनीकी खराबी के कारण खरीदी रोकी गई है। उंन्होने किसानों से अपील की है कि जब सूचना दी जाए तभी केंद्रों में आए।

यह है अभी तक कि मूंग खरीदी की स्थिति

  • जिले में मूंग खरीदी के लिए बनाए गए है 19 केंद्र
  • 4100 किसानों ने बेची है अभी तक अपनी उपज
  • अब तक 12.200 मीट्रिक टन हुई है मूंग की खरीदी
  • मूंग के साथ साथ 27 किसानों से 72 मीट्रिक टन उड़द की भी हुई खरीदी
  • 15 हजार किसानों को भेजा गया पहला एसएमए

MP News: किसानों की समस्या बढ़ी, समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी में आई ये अड़चन