कोरोना काल में पटाखों पर प्रतिबंध को लेकर NGT में याचिका दायर

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्यप्रदेश सहित पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ और राजस्थान में पटाखों पर प्रतिबंध की मांग को लेकर जबलपुर निवासी डॉ नाज पांडेय और रजत भार्गव ने NGT में एक याचिका दायर की है। इसमें लिखा है कि कोरोना काल मे दीपावली के समय पटाखे (crackers) फोड़ना बहुत है खतरनाक साबित हो सकता है। पटाखों से प्रदूषण तो फैलेगा ही, साथ ही कोरोना संक्रमित रोग से जूझ रहे और इससे ठीक हुए मरीजों के लिए इनका धुआं जहर बनकर सामने आएगा। लिहाजा नागरिक उपभोक्ता मंच ने नेशनल ग्रीन टिब्यूनल में याचिका दायर की है कि कोरोना काल के चलते इस दीपावली में पटाखों पर प्रतिबंध लगाया जाए।

गुरुवार को होगी याचिका पर सुनवाई
नागरिक उपभोक्ता मंच के सदस्य डॉ पीजी नाज पांडेय और रजत भार्गव के द्वारा नेशनल ग्रीन टिब्यूनल में दायर की याचिका में कहा गया है कि कोरोना काल के समय पटाखे फोड़ना अत्यंत हानिकारक साबित होगा। आम जन तो पटाखे के धुंए से उत्पन्न होने वाले प्रदूषण से परेशान होंगे ही, साथ ही सबसे ज्यादा उन्हें असर पड़ेगा जो कि कोरोना संक्रमित हैं या कोरोना से ठीक हो कर आए हैं। नागरिक उपभोक्ता मंच द्वारा दायर की याचिका को लेकर गुरुवार को सुनवाई होगी।

मध्यप्रदेश सहित पड़ोसी राज्यो में प्रतिबंध की मांग की गई
नागरिक उपभोक्ता मंच के द्वारा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल में लगाई गई इस याचिका में कहा गया है कि दीपावली के समय पटाखों पर प्रतिबंध सिर्फ मध्य प्रदेश ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी लगाना चाहिए। फिलहाल दीपावली के समय पटाखों पर प्रतिबंध की मांग की लगाई गई याचिका पर गुरुवार को सुनवाई होना तय किया गया है।