जबलपुर, संदीप कुमार। हमारे देश के सैनिक जो कि हमारी रक्षा के लिए बारह महीने बॉर्डर पर तैनात रहते हैं, आज उन्हीं सैनिकों की न राज्य सरकार सुन रही है और न ही जिला प्रशासन। रिटायर्ड सैनिक श्याम सुंदर चौबे के बेटे की बीते दिन नरसिंहपुर में हत्या कर दी जाती है। परिवार हत्यारो को पकड़ने के लिए पुलिस से गुहार लगा रहा है। शनिवार को भी पीड़ितों के साथ पूर्व सैनिक संघ का प्रतिनिधि मंडल रेंज के आईजी से मुलाकात कर हत्यारों को पकड़ने के लिए शिकायत दर्ज कराई।

MP News: लोकायुक्त का शिकंजा, डिप्टी रेंजर व वनरक्षक रिश्वत लेते रंगेहाथों गिरफ्तार

बेटे के हत्यारों को पकड़वाने दर-दर भटक रहा है पूर्व सैनिक
आर्मी से रिटायर्ड सैनिक श्याम सुंदर चौबे ने बताया कि 14-5-2019 को उसके बेटे अभिषेक चौबे का पल्लवी से विवाह हुआ था। पति-पत्नी के बीच कुछ बात को लेकर मतभेद हुआ जिसके चलते अभिषेक की पत्नी पल्लवी ने 22-5-2020 को अकबर खान और उसके साथियों के साथ मिलकर पति की हत्या करवा दी। अभिषेक की हत्या से जुड़े तमाम सबूत परिवार वालो ने नरसिंहपुर पुलिस को दिए पर आज तक अभिषेक के हत्यारों को पुलिस पकड़ने में नाकाम साबित रही।

हम कर रहे हैं देश की सुरक्षा, लेकिन हमारा परिवार ही नहीं सुरक्षित
पूर्व सैनिक संघ का एक दल जबलपुर रेंज के आईजी भगवत सिंह चौहान से मिला और बताया कि कैसे एक रिटायर्ड सैनिक के बेटे की जघन्य हत्या की जाती है और घटना के एक साल बाद भी आरोपी फरार घूम रहे हैं। इस मामले में पुलिस कुछ भी मदद करने को तैयार नही है। भूतपूर्व सैनिक संघ के अध्यक्ष रजनीश सिंह की मानें तो आज सैनिको की कोई इज्ज़त नहीं करता है।

हाई कोर्ट के निर्देश के बाद भी कार्रवाई नहीं
अभिषेक चौबे के हत्यारों को पकड़ने में जब पुलिस नाकाम हुई तो मजबूर होकर पीड़ित परिजनों ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। हाई कोर्ट के निर्देश के बाद भी जांच नहीं हुई और एक पिता जो कि देश की हिफाजत करता था वह न्याय के लिए दर-दर भटक रहा है। पूर्व सैनिक संघ ने आईजी से मुलाकात कर चेतावनी दी है कि अगर पूर्व सैनिक श्याम सुंदर चौबे को न्याय नही मिलता है मजबूर होकर सैनिक संघ को जबलपुर-नरसिंहपुर हाइवे को जाम करना होगा।

आईजी ने दिया जल्द कार्रवाई का आश्वासन
श्याम सुंदर चौबे के साथ पूर्व सैनिक संघ ने अभी तक मुख्यमंत्री, गृहमंत्री, सांसद, आईजी,
एसपी जबलपुर, एसपी नरसिंहपुर तक को अपनी शिकायत दे चुके है। हालांकि अब आईजी भगवत सिंह चौहान ने आश्वासन दिया है कि जल्द से जल्द उनकी शिकायत को अमल में लाया जाएगा और दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।