जब इस बहादुर बेटी के घर पहुंचा 51000 रुपए का चेक, सीएम शिवराज ने किया था सम्मानित

वही अर्चना केवट ने सब इंस्पेक्टर बनने की इच्छा जताई है।

सीएम शिवराज

कटनी, डेस्क रिपोर्ट। पिछले दिन मध्यप्रदेश (madhya pradesh) में महिला सशक्तिकरण (woman empowerment) की अनूठी मिसाल देखने को मिली थी। जहां प्रदेश की बहादुर बेटी अर्चना केवट (archana kewat) ने मनचलों को सबक सिखाते हुए सलाखों के पीछे भिजवाया था। इसके बाद सीएम शिवराज ( cm shivraj) ने बहादुर बेटी को उसकी बहादुरी के लिए सम्मानित किया था और 51,000 पुरस्कार राशि देने की घोषणा की थी। गुरुवार को पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक संजय पाठक (sanjay pathak) ने अर्चना केवट को 51000 रुपए का चेक सौंपा।

दरअसल पिछले दिनों कटनी जिले के कैमोर थाना क्षेत्र की रहने वाली अर्चना केवट जो अपने पिता के साथ लौट रही थी तो उन्होंने कुछ शराबियों को नाबालिक लड़कियों के साथ छेड़छाड़ करते देखा। इसके बाद अर्चना ने पुलिस की मदद से शराबियों को सलाखों के पीछे भेजने का काम किया था।

इस कार्य की भनक जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को लगी तो उन्होंने खुले मंच से प्रदेश के इस बहादुर बेटी को सम्मानित किया था। इसके अलावा पुरस्कार राशि 51000 देने की घोषणा की थी। इसके बाद आज जिले के बीजेपी विधायक सत्येंद्र पाठक ने अर्चना को 51000 रुपए का चेक सौंपा और उसका हौसला अफजाई किया। वही अर्चना केवट ने सब इंस्पेक्टर बनने की इच्छा जताई है।