Khargone की दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में बना नया पावर ग्रिड, 36 गांव के 7 हजार से अधिक उपभोक्ता होंगे लाभान्वित

अब झिरन्या के दुर्गम पहाड़ी अंचल में बिजली की समस्या और कम वॉल्टेज से मुक्ति मिल जाएगी। झिरन्या के तितरान्या में 33/11 KV का पावर ग्रिड (power grid) बनकर तैयार हो गया है।

खरगोन, बाबुलाल सारंग। खरगोन (Khargone) जिले की दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में हमेशा से बिजली (Electricity) की समस्या रही है, लेकिन अब झिरन्या के दुर्गम पहाड़ी अंचल में बिजली की समस्या और कम वॉल्टेज से मुक्ति मिल जाएगी। झिरन्या के तितरान्या में 33/11 KV का पावर ग्रिड (power grid) बनकर तैयार हो गया है। इस पावर ग्रिड से 35 गांव में बसें फलिया जगमग होने की तैयारी में है। साथ ही खेत भी अब रबी की फसलों से भी लहलहाते देखे जाएंगे। कार्यपालन यंत्री अनुप जोशी ने बताया कि दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में बिजली की समस्या व कम वॉल्टेज से लोगों को परेशान होना पड़ता था, लेकिन अब यह समस्याएं दूर कर दी गई है।

Khargone की दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में बना नया पावर ग्रिड, 36 गांव के 7 हजार से अधिक उपभोक्ता होंगे लाभान्वित

यह पावर ग्रिड इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां फैले वन्य क्षेत्र में वन विभाग (Forest department) की आपत्ति के कारण बिजली का कार्य करने में समस्या थी। पूर्व में चिरिया ग्रीड से 11KV लाईन से सप्लाई होती रही। चिरिया से 259 किमी लंबाई के कारण लाईट बंद और वॉल्टेज की समस्या होती रही। 2019 में ग्रीड निर्माण और बिजली लाईन निर्माण की स्वीकृति भारत व राज्य सरकार (state government) द्वारा दी गई। वन विभाग को वन्य क्षतिपूर्ति के लिए 2.74 करोड़ रूपए प्रदान किए गए। इस पूरे ग्रीड की लागत 3 करोड़ 10 लाख रूपए है।

यह भी पढ़ें…

36 गांव के 7 हजार से अधिक उपभोक्ता होंगे लाभांवित
मप्र विद्युत विभाग के अधीक्षण यंत्री डीके गाठे ने बताया कि पहाड़ी अचंल में बसे 36 गांव को विद्युत सप्लाई होगी। यहां लगभग 7100 घरेलू बिजली उपभोक्ता है। इंजीनियर नितिन मालवीय ने जानकारी देते हुए बताया कि इस क्षेत्र में 700 मोटर पंप स्थाई रूप से और 600 मोटर पंप मौसमी समय में अस्थाई रूप में कनेक्शन लेते है। यह ग्रीड जिले का एक मात्र ऐसा ग्रीड होगा, जहां अर्थिंग के लिए 60-60 मीटर के गड्ढे ट्यूबवेल मशीन से कराएं गए। इस क्षेत्र में 270 पोल लाल कलर से पेंट किए गए है, जिससे रिपेयरिंग करते समय 33KV और 11KV के पोल का अंतर पता चल सके। क्योंकि यह क्षेत्र कवरेज विहीन है। ऐसे में रिपेयरिंग करते समय असुविधा न हो।

Khargone की दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र में बना नया पावर ग्रिड, 36 गांव के 7 हजार से अधिक उपभोक्ता होंगे लाभान्वित