कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को खतरा, जानिए किस तरह कर सकते हैं बचाव

विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना की तीसरी लहर से बच्चों को ज्यादा खतरा रहेगा। इससे बचाव के लिए खास बातों का ध्यान रखने की जरूरत है। पढ़िए पूरी खबर....

MP

खरगोन, बाबूलाल सारंग। कोरोना की दूसरी लहर (Covid-19 Second Wave) काल बनकर आई है। वहीं सरकार ने तीसरी लहर (Covid-19 Third Wave) से निपटने की तैयारी कर ली है। विशेषज्ञों के अनुसार अब इसका असर बच्चों पर पड़ेगा। डाक्टर्स का कहना है कि तीसरी लहर से बचने के लिए हमे अभी से तैयार रहना होगा। मास्क बच्चों को भी पहनाना होगा और खुद भी सतर्क रहना होगा। बच्चों के खानपान पर ध्यान देने के साथ ही आदतों में बदलाव लाना होगा।

यह भी पढ़ें:-बैतूल- कोरोना से ठीक हुए मरीजों के लिये इस चिकित्सालय की सराहनीय पहल, मिलता है अच्छा और निःशुल्क इलाज

विशेषज्ञ डाक्टर्स का कहना है कि न्यू नार्मल लाइफ के हिसाब से शेड्यूल तय करना होगा तभी हम कोरोना की तीसरी लहर के लिए तैयार हो पायेगे। तमाम मेडिकल व्यवस्थाये उपचार के माध्यम से सब सेकेंडरी मानकर शुरुआत में हम इससे बचे कैसे रह सके इस पर फॉक्स करना होगा। यदि दूसरी लहर के बाद स्थितियां सामान्य मिले तो भी सतर्क रहना होगा। बच्चों को शादी या सामूहिक आयोजनों में ले जाने से बचना होगा, भीड़ में ज्यादा दिक्कत बच्चों की होती है। साथ ही संक्रमित व्यक्ति से घर दूर रहना होगा, बार-बार हाथ धोने कि आदत बच्चों की डालना होगी, मास्क अनिवार्य रूप से पहनना होगा तभी कोरोना से जीत पाएंगे।
मास्क पहनना और हाथ धोना ये प्रमुख सावधानियां है, लेकिन बच्चों को स्प्रेड से बचाने के लिए जरुरी है कि आयोजनों में न ले जाए। हरी सब्जियां फल इत्यादि का सेवन करवाते रहे। जरूरत पड़ने पर ही टॉनिक शुरू किया जा सकता है।

इस तरह बच्चों को बचाए कोरोना की तीसरी लहर से:-

  • बच्चों की इम्युनिटी अच्छी रखने बेहतर डाईट रखें।
  • मास्क का उपयोग अनिवार्य, बार-बार हाथ धुलवाये।
  • थोड़ी भी दिक्कत होने पर डाक्टर्स कि सलाह लें।
  • घर में कोई भी संक्रमित हो तो आइसोलेट हो जाए, बच्चों से दूरी बनाकर रखें।
  • भीड़ या सामूहिक आयोजनों में जाने से बचें।
  • बाहर खेलने जाने पर भी बच्चों पर पूरी रोक लगाना होगी।
  • बच्चों को सुरक्षित रखने के लिए बड़े अधिक से अधिक वैक्सीन लगवाये।