अज्ञात महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने दंपत्ति को किया गिरफ्तार, दोनों ने मिलकर की थी साजिश

आरोपी एकलव्य ने महिला को उसी के दुपपट्टे से गला दबा कर पत्नि के साथ मिलकर जान से मार दिया था। इसके बाद शव को एक्वाडक्ट पुलिया के पास नहर के किनारे झाड़ियों मे फेंक दिया और मृतिका की स्कूटी से अपने घर खण्डवा चले गए।

बड़वाह, बाबूलाल सारंग। 8 मार्च को बड़वाह के निकट डेहरिया आश्रम रोड पर एक्वाडक्ट पुलिया के पास नहर के निकट झाडियों में एक अज्ञात महिला का नग्नावस्था में शव मिला था। जिसकी शिनाख्त के लिए बड़वाह पुलिस द्वारा तत्काल उसके फोटो(Photo) इन्दौर संभाग व खरगोन एवं आसपास के जिलो में सोशल मीडिया(Social Media) व वाट्सअप(Whatsapp) ग्रुपों पर प्रेषित किए गए थे। मृतिका के गले में पहनी चैन में लगे पैडल पर Queen लिखा था एवं उसके बायें हाथ के अंगुठे के ऊपर R गुदा हुआ था। सोशल मीडिया(Social Media) से जानकारी मिलने पर उसकी पहचान खण्डवा निवासी लगभग 32 वर्षीय रानी गढ़वाल के रूप में हुई। रानी वर्तमान में इन्दौर स्थिति प्रायवेट फाईनेंस कम्पनी में कार्यरत थी। पुलिस जांच के दौरान पाया गया कि उक्त महिला इन्दौर स्थित फाईनेंस कम्पनी में अपने मामा की मृत्यु की सूचना दी। इसके बाद शुक्रवार दिनांक 05/03/2021 वहां से चली गई थी।

ये भी पढ़े- कलेक्टर साहब हुए खफ़ा, शराब दुकान पर कर्मचारी को बनाया मुर्गा, देखिये Video

मृतिका के बारे में जानकारी प्राप्त करने पर ज्ञात हुआ कि वह खण्डवा नहीं पहुंची तथा उसका मोबाईल नंबर बंद आ रहा था। एक मोबाईल में रिंग जा रही थी किन्तु कोई जवाब नहीं मिल रहा था। महिला के पूर्व परिचितों की जानकारी प्राप्त करने पर ज्ञात हुआ कि उक्त मृतिका के साथ पूर्व में अन्य फाईनेसंस कम्पनी में कार्य करने वाले सहकर्मी एकलव्य पिता पूनमचंद मालवीय जो खण्डवा निवासी होकर वर्तमान में बड़वाह में अपनी पत्नी पिंकी के साथ तिलक मार्ग बड़वाह में किराए के कमरे में रह रहा था, उस पर शक हुआ। एडिश्नल एस पी.जितेंद्र सिंह पंवार ने बताया कि 5 मार्च को मृतिका इन्दौर से अपनी दो पहिया वाहन सुजूकी एक्सिस से घर के लिए निकली थी उक्त महिला का 6 मार्च से फोन बंद आ रहा था।

ये भी पढ़े- मुरैना के नए अपर कलेक्टर बने नरोत्तम प्रसाद भार्गव, आदेश जारी

आरोपी एकलव्य महिला का मित्र है व मृतिका उससे मिलने बड़वाह आई थी। आरोपी एकलव्य की पत्नी अपना इलाज करवाने खंडवा गई थी ,ऐसे में मौका पाकर आरोपी एकलव्य ने मृतिका को अपने घर बुलाया। खंडवा से पत्नि अपने पति को बिना बताए बड़वाह अपने घर आ गई। उस समय आरोपी एकलव्य घर पर नहीं था, पत्नि ने जब जैसे ही महिला को अपने घर में देखा तथा उसकी अनुपस्थिति में उसके पति के साथ घर पर रहना पाया। तो इस बात पर दोनों के बीच झगड़ा शुरू हो गया और मृतिका द्वारा आरोपी की पत्नि से मारपीट होने के दौरान पति एकलव्य वहां पहुचा और उसने लड़ाई रोकने की कोशिश की किन्तु दोनों रुके नहीं और आरोपी एकलव्य ने मृतिका महिला को उसी के दुपपट्टे से गला दबा कर पत्नि के साथ मिलकर जान से मार दिया।

इसके बाद मृतिका को बोरे में भरकर मृतिका के शव को एक्वाडक्ट पुलिया के पास नहर के किनारे झाड़ियों मे फेंक दिया और मृतिका की स्कूटी से अपने घर खण्डवा चले गए। जहां से बड़वाह पुलिस द्वारा उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने 3 दिन में ही हत्या में लिप्त दम्पति को हिरासत में लेकर उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर गुरुवार 11 मार्च बड़वाह न्यायालय में पेश किया। जहां से आरोपी दम्पति को दो दिन की पुलिस रिमांड पर सौंपा गया है।

उक्त अंधे कत्ल को सुलझाने के लिए एस.पी . शैलेन्द्र सिंह चौहान के निर्देशन एस डी ओ पी मानसिंग ठाकुर,थाना प्रभारी संजय द्विवेदी,एस आई राम आस रे यादव,मिथुन चौहान,आरक्षक अभिलाष डोंगरे,गम्भीर मीणा,सन्तोष बनडे,कैलाश सागरीय,सन्दीप विश्वकर्मा,जितेंद जाटशामिल थे।

 

बडवाह बाईट जितेंद सिंह पंवार एडिश्नल एस पी खरगोन।