मध्य प्रदेश : नीमच में बापू का अपमान, कांग्रेस नेताओं से टूटी राष्ट्रपिता की तस्वीर

प्रदर्शन की शुरुआत में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पहले तो तस्वीर पर माल्यार्पण किया, लेकिन फिर जल्दबाजी में तस्वीर जमीन पर गिर गई, जिस इस पर किसी का ध्यान नहीं गया। इस मौके पर पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के अलावा कांग्रेस के दूसरे नेता भी मौजूद थे।

नीमच, कमलेश सारडा। नीमच में कांग्रेस के प्रदर्शन के दैरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के अपमान का मामला सामने आया है। प्रदर्शन के दौरान आपाधापी में बापू की तस्वीर टूट गई, लेकिन अपमान योग्य बात तब रही जब यह खंडित तस्वीर आधे घंटे तक जमीन पर पड़ी रही।

प्रदर्शन की शुरुआत में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पहले तो तस्वीर पर माल्यार्पण किया, लेकिन फिर जल्दबाजी में तस्वीर जमीन पर गिर गई, जिस इस पर किसी का ध्यान नहीं गया। इस मौके पर पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा के अलावा कांग्रेस के दूसरे नेता भी मौजूद थे।

ये भी पढ़े … छात्रों के लिए अच्छा मौका, तीन दिन के जॉब मेले में आएंगी 30 से ज्यादा कंपनिया

आपको बता दे, शनिवार को शहर के फोर जीरो चौराहे पर कांग्रेस ने सरकार के खिलाफ महंगाई और अन्य मुद्दों को लेकर मोर्चा खोला। प्रदर्शन के दौरान स्वागत को लेकर मंच पर कार्यकर्ताओं की भीड़ जमा हो गई। इस दौरान कुर्सी पर रखी गांधीजी की तस्वीर गिर गई और टूट गई, लेकिन इसके बाद कांग्रेसी प्रदर्शन में इतने व्यस्त हो गए कि उन्होंने तस्वीर को मंच के कोने में रख दिया। इसके बाद मीडिया की नजर जब तस्वीर पर पड़ी, तो कांग्रेस के जिला कार्यालय प्रभारी ने आनन-फानन में तस्वीर उठाकर पूर्व विधायक नंदकिशोर पटेल की कार में रख दी।

मामले पर अपनी सफाई देते हुए कांग्रेस जिला अध्यक्ष अजीत कांठेड़ ने कहा, “कार्यक्रम में अतिथियों का स्वागत करने के दौरान मंच पर भीड़ हो गई थी। इसी बीच टेंट हाउस की टेबल पर रखी महात्मा गांधी की तस्वीर गिर गई और टूट गई। चूंकि मंच पर भीड़ की वजह से तस्वीर गिरी है, उसमें कांग्रेस का महात्मा गांधी का अपमान करने का भाव नहीं है। गांधीजी आदर्श और प्रेरणास्रोत हैं। हम उनकी अवमानना नहीं कर सकते। यह असावधानी के चलते हुआ।”