9 साल के मीत बने एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड ग्रेंड मास्टर, एक मिनिट में सबसे अधिक संस्कृत मंत्रों का उच्चारण

मंदसौर, डेस्क रिपोर्ट। अब आपको मिलाते हैं एक वंडर किड से। ये हैं 9 साल के मीत जोशी, जिन्होने 1 मिनट में सर्वाधिक मंत्रों का उच्चारण करके एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में ग्रेंड मास्टर का खिताब अपने नाम कर लिया है। इस नन्हें बालक ने एक मिनिट में 9 संस्कृत मंत्रों का उच्चारण किया है और इस तरह एक रिकॉर्ड कायम किया।

जब मंत्री ने लगा दी लोगों के लिए जान की बाजी, देखिए जांबाजी का अद्भुत VIDEO

9 साल के मीत बने एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड ग्रेंड मास्टर, एक मिनिट में सबसे अधिक संस्कृत मंत्रों का उच्चारण

संस्कृत बोलने में जहां बड़े बड़ों की जबान लड़खड़ा जाती है, वहीं 9 साल का मीत इसे फर्राटेदार तरीके से उच्चारित करता है। चौथी क्लास में पढ़ने वाले मीत जोशी मूलतः मंदसौर जिले के पिपल्या मंडी का रहने वाला है। वो फ़िलहाल अपने माता पिता के साथ मॉरीशस में रह रहा है। मीत के पिता विवेक जोशी एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। लेकिन उनकी इस उपलब्धि के पीछे उनकी की माँ नेहा जोशी की अहम भूमिका है। उन्होने अपने बेटे की प्रतिभा को पहचाना और उन्हें संस्कृत के मंत्र याद करवाए। लंबे और नियमित अभ्यास के बाद मीत ने एक मिनिट में 9 मंत्रो का उच्चारण कर ये रिकॉर्ड अपने नाम किया है। सबसे कम समय मेम सर्वाधिक मंत्र बोलने का रिकॉर्ड ब्रेक करने पर मीत को मेडल और सर्टिफिकेट मिला है। उनकी इस उपलब्धि से मीत के परिवारजन बेहद खुश है। मॉरिशस में रहने के बावजूद अपनी संस्कृति और परंपराओं को लेकर उनका रूझान प्रशंसनीय है।