मुरैना में लुटेरी दुल्हन का शिकार हुआ युवक, शादी के दो दिन बाद लाखों के जेवरात लेकर हुई फरार

दो दिन ससुराल में रुकने के बाद 13 मई को ज्योति शादी के सारे सोने-चांदी जेवरात और घर में रखी नगदी समेटकर घर की छत से कूदकर फरार हो गई।

मुरैना, संजय दीक्षित। मुरैना (Morena) जिले में एक दंपती लुटेरी दुल्हन का शिकार बन गई। जहां शादी के दो दिन बाद ही दुल्हन सोने चांदी के गहने समेट नो दो गयारह हो गयी। और अपने ससुराल वालों के अरमानों पर पानी फेर दिया। जिसके बाद दूल्हे के परिवारजन हर रोज थाने के चक्कर काट रहे है। लेकिन 20 दिन बाद भी पुलिस सिर्फ आश्वासन दे रही है।

यह भी पढ़ें…MP School: नए सत्र से पहले छात्रों को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला

मामला पोरसा थाना क्षेत्र के खेरिया गांव का है। जहां 8 मई को सुरजीत की शादी बड़ी धूम-धाम से मुरैना तुस्सीपुरा निवासी ज्योति के साथ हुई थी। 9 मई को शादी से विदा होकर दुल्हन खेरिया गांव में पहुंची। उसके बाद अगले दिन 10 मई को दूसरी विदा के लिए मुरैना अपने घर लौट आई। 10 मई को देर रात मुरैना से दूल्हा सुरजीत अपनी पत्नी ज्योति माहौर को विदा कराकर अपने गांव खेरिया ले आया। दो दिन ससुराल में रुकने के बाद 13 मई को ज्योति शादी के सारे सोने-चांदी जेवरात और घर में रखी नगदी समेटकर घर की छत से कूदकर फरार हो गई।

इधर जब इसकी जानकारी सुबह दूल्हे व उसके परिवार को लगी तो उन्होंने लड़की को हर जगह देखा। लेकिन बहू कहीं नजर नहीं आई। जिसके बाद लड़के वालों ने ज्योति के मायके मुरैना में जानकारी दी। लेकिन पता चला कि ज्योति वहां भी नहीं पहुंची थी। जिसके बाद जब कमरे में जाकर थोड़ी देर बाद जेवरात देखे तो वो भी गायब मिले। और तब जाकर सुरजीत और उसके परिवार वालों को पूरा मामला समझ में आया। इसके बाद दूल्हे सुरजीत व उसके पिता ने पोरसा थाने में जाकर रिपोर्ट दर्ज कराई। बताया जा रहा है कि भागते वक्त दुल्हन का मोबाइल घर पर गिर गया, जिसे दूल्हे ने पुलिस को सुपुर्द कर दिया है।

यह भी पढ़ें…Electricity : मध्य प्रदेश के बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत, कंपनी ने शुरु की यह सर्विस

20 दिन से परेशान दूल्हे का परिवार
अब ससुराल के लोग थाने के चक्कर काट रहे हैं। 20 दिन से ज्यादा हो गए है लेकिन लुटेरी दुल्हन का कोई पता नहीं चल पाया है। दूल्हा व उसके पिता परेशान है और पुलिस के दरबार में हाजिरी लगा रहे हैं। लेकिन उन्हें पुलिस की तरफ से तारीख पर तारीख दी जा रही हैं। उन्हें आश्वासन के अलावा कुछ भी हासिल नहीं हो रहा है। इस पूरे मामले में टीआई रामपाल सिंह जादौन का कहना है कि इस केस की जांच केडी शर्मा पर थी। वह कुछ दिनों से बीमार हो गए थे। उसकी जांच हम किसी दूसरे एसआई से करवाते हैं।