आचार संहिता लागू, फिर भी होटलों-ढाबों पर खुलेआम परोसी जा रही शराब

morena hotel liquor served

Morena News : मध्य प्रदेश के मुरैना जिले की सीमा के भीतर संचालित आलीशान होटलों व भोजनालयों के साथ ही आस-पास स्थित ढाबों पर लंबे समय से खुलेआम लोगों को शराब परोसी जा रही है। वर्तमान में भी पुलिस प्रशासन व जिला प्रशासन इस पर अंकुश नहीं लगा सका है, इससे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर लागू आचार संहिता की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।

यह है पूरा मामला

बता दें कि चुनावों के दौरान कानून व्यवस्था व शांति का माहौल बनाए रखने के लिए चुनाव प्रभावी इलाकों में धारा 144 व आदर्श आचार संहिता लागू की जाती है और इसका पालन कराने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन की मुख्य तौर पर होती है। हाल ही में चल रहे विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता लागू हैं, इसके बाद भी प्रत्याशियों द्वारा वोटरों को खुलेआम शराब परोसी जा रही है।

शराब परोसने का काम वर्तमान में जिले की कैलारस तहसील के सेमई चौराहे पर कमल ढाबा पर खुलेआम चल रहा है। जिसका वीडियो सोशल मीडिया वायरल हो रहा है। साथ ही शहर के समीप नेशनल हाइवे मार्ग पर दर्जनों मांसाहारी ढाबे चल रहे हैं और लगभग इन समस्त ढाबों पर लोगों को खुलेआम शराब परोसी जा रही है। केवल शहर के बाहर संचालित इन ढाबों में नहीं, बल्कि शहर के अंदर संचालित आलीशान होटलों व भोजनालयों में भी शराब परोसी जा रही है। जबकि वर्तमान में चल रहे चुनाव को देखते हुए पुलिस व जिला प्रशासन को सख्ती दिखाना जरूरी है। आमलोगों की आड़ में प्रत्याशी अपने वोटरों को लुभाने के लिए भी इन्हीं होटलों, भोजनालयों व ढाबों में शराब परोसी जा रही है।

मुरैना से नितेन्द्र शर्मा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News