Morena News : 9वें दिन अनिश्चितकालीन हड़ताल पर पटवारी, मांगों के पूरा नहीं होने पर जारी विरोध प्रदर्शन

Amit Sengar
Published on -

Morena News : 28 अगस्त से प्रदेश भर के पटवारियों के द्वारा वेतन विसंगतियों की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन एवं हड़ताल की जा रही है इसी क्रम में मुरैना जिले में 9 वें दिन मंगलवार को पटवारियों ने पुराना कलेक्ट्रेट में तहसील ऑफिस के सामने तंबू लगाकर धरना दिया जा रहा है। धरनास्थल पर मौजूद महिला पटवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि वेतन विसंगतियों को लेकर कई सालों से हमारी मांग मध्य प्रदेश शासन के समक्ष लंबित हैं किंतु मध्यप्रदेश शासन हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दे रहा है।

धरना पर बैठे पटवारी

महिला पटवारी रितु राजौरिया ने जानकारी देते हुए बताया कि हम 28 अगस्त से कलमबंद अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे हैं हमारी मांगों को लेकर 2007 में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गंभीरता से विचार करने का आश्वासन दिया था किंतु आज दिनांक तक उन मांगो पर किसी प्रकार का कोई विचार नहीं किया गया है मध्य प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में पटवारी का वेतनमान 2800 के करीब है जबकि मध्य प्रदेश में वेतनमान उससे कम है इसलिए हम मांग कर रहे थे कि सभी राज्यों में जिस तरह से वेतन मान है उसी तरह का वेतनमान हमें भी दिया जाए हम पटवारी होने के बाद भी आर आई का काम ले रहे जबकि आर आई का वेतनमान 2800 रुपए है जो काम हमसे लिया जा रहा है उसका वेतन उसका भुगतान हमें किया जाए। जब तक हमारी मांगे नहीं मानी जाती तब तक हम धरना पर बैठेंगे।

धरना प्रदर्शन कर रहे पटवारियों का कहना है कि प्रदेश के पटवारियों को साल 1998 में निर्धारित किए गए वेतनमान के अनुसार ही वर्तमान में वर्ष 2023 में वेतन दिया जा रहा है विगत 25 वर्ष में प्रदेश के पटवारी के वेतनमान में कोई वृद्धि नहीं की गई है इस बात से सभी पटवारी नाराज है यदि सरकार ने उनकी मांगों को नहीं माना तो अनिश्चितकाल हड़ताल जारी रहेगी। और आगे चेतावनी देते हुए कहा कि इसका खामियाजा आगामी चुनाव में भुगतना पड़ेगा।
मुरैना से नितेन्द्र शर्मा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News