बजरंगबली को रेलवे का नोटिस, कहा- 7 दिन में खाली करें अतिक्रमण की जगह

Amit Sengar
Published on -

Morena News : मध्यप्रदेश में रेलवे विभाग का अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहां रेलवे विभाग द्वारा हनुमान जी को ही अतिक्रमणकारी बताते हुए उन्हें नोटिस जारी कर दिया गया। इतना ही नहीं नोटिस में 7 दिन का समय देते हुए अपने मकान का अतिक्रमण हटाने की बात लिखी है। रेलवे ने नोटिस जारी कर 7 दिन बाद एक्शन की चेतावनी दी है।

यह है मामला

मध्य प्रदेश के मुरैना जिले में रेलवे विभाग द्वारा 11 मुखी हनुमान जी को ही अतिक्रमणकारी बताते हुए उन्हें नोटिस जारी कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार बता दें कि मुरैना जिले में इन दिनों ग्वालियर श्योपुर ब्रॉडगेज का काम चल रहा है। इस पर रेलवे ट्रैक बिछाने का काम दिनरात किया जा रहा है। इस वजह से रेलवे ट्रैक के रास्ते में आने वाले अतिक्रमण को भी हटाने की कार्रवाई की जा रही है। मुरैना के सबलगढ़ इलाके में चल रहे ब्रॉडगेज के कार्य में कुछ मकान और एक 11 मुखी हनुमान जी का मंदिर भी अतिक्रमण की श्रेणी में आ रहा है। इन मकान और 11 मुखी हनुमान जी के मंदिर को रेलवे विभाग द्वारा 8 फरवरी को नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में हनुमान जी को अतिक्रमणकारी बताते हुए नोटिस में लिखा गया है कि ‘हनुमान जी ने रेलवे की भूमि पर मकान बनाकर अतिक्रमण कर लिया है इसलिए रेलवे द्वारा उन्हें 7 दिन का समय दिया जा रहा है’। जारी नोटिस में यह भी बताया गया कि 7 दिन में अपना अतिक्रमण स्वयं हटाना होगा अगर ऐसा नहीं किया तो प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की जाएगी और इसका हर्जाना ग्यारह मुखी हनुमान जी से वसूला जाएगा, लेकिन खास बात यह है कि इस नोटिस की एक-एक कॉपी सहायक मंडल अभियंता ग्वालियर और रेल सुरक्षा बल ग्वालियर को भी भेजी गई है। यह नोटिस सामने आने के बाद रेल विभाग की कार्यप्रणाली को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई है। रेलवे का ये अजीबोगरीब नोटिस सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है।

बजरंगबली को रेलवे का नोटिस, कहा- 7 दिन में खाली करें अतिक्रमण की जगह

बजरंगबली को रेलवे का नोटिस, कहा- 7 दिन में खाली करें अतिक्रमण की जगह

बजरंगबली को रेलवे का नोटिस, कहा- 7 दिन में खाली करें अतिक्रमण की जगह

नोटिस का वीडियो हुआ वायरल

श्रद्धालुओं का कहना हैं कि उन्होंने जिंदगी में पहली बार ऐसा नोटिस देखा है जो बजरंगबली के नाम से आया है। इस नोटिस को लेकर हैरानी भी जताते हुए उन्होंने कहा कि ‘हम को पढ़कर यह आश्चर्य हुआ कि बजरंगबली के नाम पर नोटिस दिया है पहली बार देखा है हमारी उम्र बहुत हो चुकी है कई नोटिस पढ़े लेकिन भगवान बजरंगबली के नाम पर नोटिस भेजा गया यह गलत है।मंदिर 11 मुखी हनुमान जी का है रेलवे ने बजरंगबली के नाम से नोटिस दिया है रेलवे ट्रेक 40 फ़ीट दूरी पर है इसी में शंकर जी का मंदिर है इस नोटिस का जवाब बजरंगबली देंगे’।

मगर अब रेलवे ने गलती मानते हुए भगवान हनुमान की जगह अब पुजारी को नोटिस भेज दिया हैं। एमपी में रेलवे द्वारा बजरंग बली को भेजा गया नोटिस सुर्खियां बटोर रही है। जिस पर अब रेल विभाग ने अपनी गलती मानते हुए इस मामले को दोबारा से संज्ञान में लेते हुए अब दूसरा नोटिस पुजारी के नाम से भेजा गया है।
मुरैना से संजय दीक्षित की रिपोर्ट

 


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News