एमपी विधानसभा चुनाव 2023 के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दिमनी सीट से भरा नामांकन,बगावत को लेकर कही बड़ी बात, कांग्रेस को बताया सीजनल हिंदू

Atul Saxena
Updated on -
MP Election 2023,Union Agriculture Minister Narendra Singh Tomar filed nomination form

MP Election 2023 : मप्र विधानसभा चुनाव में मुरैना जिले की दिमनी सीट से प्रत्याशी बनाये गए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आज अपना नामांकन फॉर्म दाखिल किया, गौरतलब है कि नरेंद्र सिंह तोमर मुरैना श्योपुर संसदीय सीट से अभी सांसद हैं और दिमनी विधानसभा इसी लोकसभा क्षेत्र में आती है।

एमपी विधानसभा चुनाव 2023 के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दिमनी सीट से भरा नामांकन,बगावत को लेकर कही बड़ी बात, कांग्रेस को बताया सीजनल हिंदू

भाजपा ने तीन केंद्रीय मंत्रियों सहित 7 सांसदों को दी है टिकट 

मप्र विधानसभा चुनावों में प्रत्याशियों की घोषणा करते समय भाजपा ने इस बार तब सबको चौंका दिया जब पार्टी ने तीन केंद्रीय मंत्रियों सहित 7 सांसदों को मैदान में उतारा, भाजपा के इस फैसले पर कांग्रेस हमलावर है और तंज कस रही है कि भाजपा के पास विधानसभा चुनाव लड़ाने के लिए नेता ही हैं इसलिए सांसदों और मंत्रियों को टिकट दिए हैं, उधर भाजपा नेता इसे पार्टी की चुनाव जीतने की रणनीति बता रहे हैं।

एमपी विधानसभा चुनाव 2023 के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दिमनी सीट से भरा नामांकन,बगावत को लेकर कही बड़ी बात, कांग्रेस को बताया सीजनल हिंदू

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दाखिल किया नामांकन 

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को आज अपने समर्थकों के साथ निर्वाचन कार्यालय पहुंचकर रिटर्निंग ऑफिसर को अपना नामांकन फॉर्म सौंपा, उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जनता सच और झूठ का अंतर समझती है, कांग्रेस को सिर्फ भ्रम फैलाना आता है झूठ बोलना आता लेकिन भाजपा विकास और जन कल्याण के लिए राजनीति करती है, उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में भारी बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बनेगी।

एमपी विधानसभा चुनाव 2023 के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दिमनी सीट से भरा नामांकन,बगावत को लेकर कही बड़ी बात, कांग्रेस को बताया सीजनल हिंदू


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News