MP का दमोह है मीथेन गैस का आगार, 24 गांवों में है भंडार, जांच जारी

damoh, methane gas

दमोह, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के दमोह(damoh) में अचंभित कर देने वाली घटना हुई है। यहां बोरिंग में पानी नहीं बल्कि आग निकल रही है। सुनने में अजीब लगने वाली इस घटना का कारण है , मीथेन गैस(methane gas)। दमोह में बोरिंग और कुओं में प्रचुर मात्रा में मीथेन गैस मिली है।लंबे समय से जांच कर रही ONGC की टीम ने 1120 करोड़ रुपए खर्च करके 28 कुएं खोदे हैं।

खबर है कि ONGC टीम को दमोह जिले के हटा इलाके में कुओं और बोरिंग में ज्वलनशील(flammable) गैस मिली है। ये ज्वलनशील गैस मीथेन है।यहां करीब 24 गांवों में मीथेन गैस प्रचुर मात्रा में है। सेमरा रामनगर गांव में कुएं की डेढ़ किमी गहराई में अकस्मात ही ज्वलनशील गैस निकली। जिसकी जानकारी क्षेत्रीय लोगों ने ONGC को दी। ONGC की टीम ने जब गांव के अन्य कुओं और बोरिंग की जांच की तो पता चला कि वहां तो मीथेन गैस का भंडार है। काफी भारी मात्रा में मीथेन गैस मिलने के बाद ONGC ने अपनी जांच और तेज कर दी है।

दमोह के कमता गांव में तो किसानों के खेतों में बोरिंग से गैस निकल रही है।इसके अलावा काइखेड़ा और पथरिया में भी मीथेन गैस मिली है। ONGC के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. एन.पी. सिंह का कहना है कि पुख्ता रूप से गैस मिलने के बाद अब इसके उपयोग हेतु कार्ययोजना बनाई जा रही है।