Neemuch News : केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो ने की बड़ी कार्रवाई, 4 किलो अफीम और 135 किलो गांजा जब्त

Amit Sengar
Published on -

Neemuch News :  नीमच जिला नशीले पदार्थों की तस्करी का धीरे-धीरे गढ़ बनता जा रहा है। केंद्रीय नारकोटिस ब्यूरो की टीम के द्वारा लगातार विशेष खुफिया जानकारी के आधार पर मादक पदार्थ की तस्करी करने वाले लोगों को गिरफ्तार कर कर जेल भेजा जा रहा है। बुधवार को भी केंद्र नारकोटिक्स विभाग ने एक मामले का खुलासा किया।

यह है पूरा मामला

केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो (सीबीएन) नीमच और सिंगोली के अधिकारियों ने एक विशेष खुफिया जानकारी के आधार पर गांव भीमगढ़ थाना क्षेत्र में एक संदिग्ध घर की तलाशी ली। 4 किलोग्राम अफीम का एक कंटेनर बरामद किया। सूचना मिलने पर गठित टीम ने एक घर की तलाशी ली। घर से कंटेनर में रखी 4 किलोग्राम अफीम बरामद हुई। बरामद अफीम को जब्त कर लिया गया है, एक व्यक्ति को एनडीपीएस अधिनियम, 1985 के गिरफ्तार किया गया है।

Neemuch News : केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो ने की बड़ी कार्रवाई, 4 किलो अफीम और 135 किलो गांजा जब्त

Neemuch News : केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो ने की बड़ी कार्रवाई, 4 किलो अफीम और 135 किलो गांजा जब्त

सीबीएन ने की कार्रवाई

केंद्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो के अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि सीबीएन जावरा के अधिकारियों ने बुधवार को एक बोलेरो पिकअप को रोका और एक गुप्त केबिन से 135 किलोग्राम गांजा बरामद किया। जो बोलेरो पिकअप से ओडिशा-आंध्र प्रदेश सीमा से मध्य प्रदेश तक गांजा ले जा रही थी। अधिकारियों ने बताया कि हमें सूचना मिली थी मुंबई-आगरा हाईवे पर कड़ी निगरानी रखी गई। बताए गए अनुसार वाहन को रुकने का इशारा किया गया, चालक ने वाहन को रोकने के बजाय गति बढ़ा दी और डिवाइडर को विपरीत लेन में पार कर गया, जिससे टायर फट गया चालक वाहन छोड़कर पास के खेतों में भाग गया। वाहन की मरम्मत कर सीबीएन कार्यालय लाया गया। वाहन की तलाशी पिकअप के फर्श में बने एक विशेष गुप्त छिद्र से 135.220 किलोग्राम गांजा जब्त किया गया। एनडीपीएस एक्ट के प्रावधानों के तहत प्रतिबंधित सामग्री व वाहन को जब्त कर लिया गया है।
नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News