Neemuch News : पुलिस को मिली बड़ी सफलता, कमल राणा का एक और साथी गिरफ्तार

news

Neemuch Smuggling Of Opium News : मप्र में अफीम के साथ-साथ खेतों में तस्करों की जड़ें भी पनपती हैं। तस्करों की नजरें खेतों में अफीम के बीज पड़ते ही वहां जम जाती हैं। ऐसा ही मामला नीमच जिले के मालवा क्षेत्र का है जहाँ अफीम की पैदावार के साथ ही मादक पदार्थ तस्कर सक्रिय हो गए है, बाबू सिंधी, फतेहलाल नागदा, पप्पू धाकड़ के गिरफ्तार होने के बाद अब कमल राणा गैंग सक्रिय हो गई है, हालांकि कमल राणा पर मंदसौर और नीमच एसपी द्वारा 25-25 हजार का इनाम गिरफ्तारी पर घोषित है। वहीं राजस्थान जिला प्रतापगढ़ पुलिस ने जीरन थाना क्षेत्र के चीताखेड़ा गांव में दबिश देकर कमल राणा गैंग के सदस्य भीम सिंह आवरी को हिरासत में लिया है और उसे राजस्थान ले गए है। प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी को मादक पदार्थ तस्करों में पुलिस द्वारा पीछा करने पर फायरिंग कर फरार होने में सदस्य शामिल होना बताया जा रहा है।

यह है मामला

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, मंदसौर जिले का मोस्ट वांटेड नीमच जिले में फरारी काट रहा है। यही नहीं कमल राणा के इशारे पर उसके गुर्गे जीतू, हुसैन, मदन, भारत व रामपाल क्षेत्र से मादक पदार्थ से भरी पिकअप व अन्य वाहनों को ठिकाने लगा रहे है। जीरन क्षेत्र के कुछ भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों की राणा से मिलीभगत है। चीताखेड़ा में कमल राणा के गुर्गों की ज्यादा हलचल देखी जाती है। जीरन क्षेत्र की सीमा से अधिकांश कमल राणा की तस्करी होती है।

मालवा क्षेत्र में फैला सिंडिकेट

बताया जा रहा है कि कमल राणा ने नीमच जिले में अपनी एक पूरी गैग बना रखी है। बड़े स्तर पर सिंडिकेट चला रखा है। राणा के इस नेटवर्क में पुलिस तथा नेताओं भी शामिल है। सभी मिलकर इसे संरक्षण देते है।

2016 में हुआ था गिरफ्तार

ऐसा नहीं है कि कमल राणा का आतंक अभी-अभी ताजा फैला है। इससे पहले भी राणा ने नीमच में उधम मचा रखी है। साल 2016 से पहले तक कमल राणा व उसकी गैंग ने नीमच जिले में मादक पदार्थ की तस्करी सहित कई अवैध गतिविधियों को अंजाम देता था। इसके बाद राणा व उसकी गैंग तत्कालीन पुलिस अधीक्षक व वर्तमान डीआईजी मनोज कुमार सिंह के हत्थे चढ़ा। तब 2016 में तत्कालीन जीरन थाना व वर्तमान कैंट थाना निरीक्षक योगेंद्रसिंह सिसोदिया की लीडरशिप वाली टीम ने राणा को राजस्थान के रणथंभौर के जंगलों से गिरफ्तार किया था।

सूत्र बाते रहे है कि कमल राणा को नवरात्रि के दिनों में चीताखेड़ा आवरी माता जी में देखा गया है। इस दौरान वो अपने सिंडिकेट के सदस्यों से भी चर्चा करता नजर आया। हाल ही राणा की ताजा तस्वीरें सामने आई। जिसमें वह दाढ़ी-मूंछ मुंडवा हुए है। सीधे हाथ में मोबाइल व ईयर फोन पकड़े है।

थाना प्रभारी जीरन केएल डांगी ने कहा कि चीताखेड़ा में जिला प्रतापगढ की छोटी सादड़ी थाना पुलिस ने दबिश दी थी, जिसमें एनडीपीएस एक्ट में आरोपी भीम सिंह बावरी को गिरफ्तारी कर लेकर गई है। पुलिस तस्करों पर निगाह बनाए हुए है। नीमच में भी धरपकड़ जारी है।

नीमच से कमलेश सारडा की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News