भारत छोड़ो आन्दोलन दिवस पर यहाँ निकाली, “भारत बचाओ” किसान-मजदूर रैली

मोदी सरकार तत्काल तीनों कृषि कानून वापस ले, साथ ही ख़त्म किये गए 44 श्रम कानूनों को भी बहाल करे। 

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। किसान संघर्ष समिति के आव्हान पर 09 अगस्त “भारत छोड़ो आन्दोलन” दिवस (quit india movement day) के मौके को देश भर में “देश बचाओ दिवस” के रूप मनाया जा रहा है। ग्वालियर में भी अखिल भारतीय किसान सभा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया और वाहन (ट्रैक्टर) रैली निकाली।

सोमवार को फूलबाग चौराहे पर सैकड़ों की संख्या में किसान और मजदूर इकठ्ठा हुए। खेती, किसानी और देश बचाओ आंदोलन का बैनर लिए किसान और मजदूर कृषि कानून वापस लेने और 44 श्रम कानून बहाल करने की मांग कर रहे थे। अखिल भारतीय किसान सभा के सचिव अखिलेश यादव ने इस मौके पर कहा कि हमारी मांग है कि मोदी सरकार तत्काल तीनों कृषि कानून वापस ले, साथ ही ख़त्म किये गए 44 श्रम कानूनों को भी बहाल करे।

ये भी पढ़ें – आदिवासियों पर गर्माई सियासत: कांग्रेस ने नहीं चलने दी विधानसभा तो CM ने की यह घोषणा

आन्दोलन में अखिल भारतीय किसान सभा, भारतीय किसान यूनियन, बीरपुर बांध बचाओ संघर्ष समिति के अलावा श्रम संगठन सीटू, एटक, इंटक, एआईयूटीयूसी तथा खेतमजदूर यूनियन और अखिल भारतीय जनवादी महिला समिति के कार्यकर्ता शामिल रहे। किसानों और मजदूरों ने फूलबाग पर प्रदर्शन किया फिर यहाँ से वाहन रैली (ट्रैक्टर रैली) शुरू कर कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया और किसान आंदोलन में जान गंवाने वाल किसानों को श्रद्धांजलि दी।

ये भी पढ़ें – नरोत्तम मिश्रा का दिग्विजय पर बड़ा हमला, “नफरत आपकी ट्वीट और बयानबाजी से फैलती है”