Madhya Pradesh : लोकायुक्त का शिकंजा, तहसीलदार 1 लाख की रिश्वत लेते गिरफ्तार

अब पन्ना जिले (Panna district) में लोकायुक्त ने बडी कार्रवाई की है। यहां टीम ने तहसीलदार को एक लाख की रिश्वत (Bribe) लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार (Arrest) किया है।

madhya pradesh

पन्ना, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में भ्रष्टाचार (Corruption) चरम पर है, आए दिन लोकायुक्त (Lokayukt Police) द्वारा भ्रष्ट सरकारी अधिकारियों-कर्मचारियों (Government officials employees) पर कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में अब पन्ना जिले (Panna district) में लोकायुक्त ने बडी कार्रवाई की है। यहां टीम ने तहसीलदार को एक लाख की रिश्वत (Bribe) लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार (Arrest) किया है।

यह भी पढ़े… MP : 25 जनवरी से शुरु होगी रबी फसल की खरीदी, इस बार रहेगी पंजीयन की नई व्यवस्था

मिली जानकारी के अनुसार,  यह कार्रवाई सागर लोकायुक्त (Sagar Lokayukt Police) द्वारा की गई है। कार्रवाई के बाद से ही कार्यालय में हड़कंप मचा हुआ है। सागर लोकायुक्त ने पन्ना जिले के अजयगढ़ में पदस्थ एक तहसीलदार उमेश तिवारी (Tehsildar Umesh Tiwari) को एक लाख की रिश्वत लेते हुए सर्किट हाउस से रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। आरोप है कि उमेश तिवारी ने जमीन के हस्तांतरण के एवज में अंकित मिश्रा से रिश्वत मांगी थी।लोकायुक्त की कार्रवाई के बाद से ही सर्किट हाउस में हड़कंप मच गया है। टीम ने भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत तहसीलदार पर कार्रवाई की है।

बता दे कि मध्यप्रदेश में लगातार रिश्वत के मामले सामने आ रहे है। हाल ही में सागर (Sagar) में मध्यप्रदेश राज्य कृषि विपणन बोर्ड (Madhya Pradesh State Agricultural Marketing Board) के सब इंजीनियर (Sub engineer) को लोकायुक्त ने 26 हजार  और  कृषि अभियांत्रिकी विभाग (Agricultural Engineering Department) सागर में पदस्थ मैकेनिकल असिस्टेंट (Mechanical assistant) राजसिंह काे 25 हजार रुपए की रिश्वत (Bribe) लेते रंगेहाथों पकड़ा था। इसके पहले  ग्वालियर (Gwalior) और सीधी (Sidhi) में भी लोकायुक्त द्वारा कार्रवाई की गई थी।