इंदौर में कचरे जैसे साफ किये जा रहे बुजुर्गों के वायरल वीडियो पर एक्शन, मस्टरकर्मी पर गिरी गाज

इंदौर, आकाश धोलपुरे। शुक्रवार को बुजुर्गों को रैन बसेरा ले जाते वक्त एक वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें वृद्ध लोगों को कचरे की तरह गाड़ी में भरकर ले जाया जा रहा है। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए इंदौर निगम कमिश्नर प्रतिभा पाल ने बसेरा के मस्टरकर्मी ब्रजेश लश्करी और विश्वास वाजपेयी की सेवा समाप्त कर दी है। वहीं पूरे मामले को लेकर निगम कमिश्नर का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है और आगे की कार्रावई जांच के उपरांत की जाएगी।

गौरतलब है कि इंदौर में शुक्रवार को एक ऐसा वीडियो वायरल सामने आया, जिसने मानवता को शर्मसार कर दिया । दरअसल, वायरल वीडियो इंदौर का ही बताया जा रहा है, जिसमें नगर निगम का अतिक्रमण निरोध वाहन बड़ी संख्या में बुजुर्गों को भरकर शहर की सीमा से बाहर छोड़ रहा है। वायरल वीडियो के बारे में जो जानकारी सामने आई है, उससे पता चला है कि इंदौर को नम्बर 1 लाने के लिए मानवीय मूल्यों का हनन कर मानव अधिकारों का माखौल उड़ाया गया है।

जो जानकारी प्रारम्भिक तौर पर सामने आई , उसके मुताबिक निगम वाहन में शहर भर से फुटपाथ पर रहने वाले बुजुर्गों और भिक्षा मांगकर 2 वक्त की रोटी खाने पर मजबूर उम्रदराज लोगों को लेकर 12 बजे इंदौर से निकला था और करीब ढाई बजे भेड़ बकरियो की तरह बुजुर्गों को शहरी सीमा से बाहर उतार दिया गया।

फिलहाल, अमानवीयता की हदे पार कर देने वाली इस घटना ने एक तरह से शहर के प्रशासन को शर्मसार कर दिया है। क्योंकि बुजुर्गी को उठाकर बकायदा सम्मान के साथ वृद्धाश्रम जैसी संस्थाओं में ले जाकर उनके पुर्नवास की व्यवस्था की जा सकती थी। अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल है।