राजगढ़- कलेक्टर ने गांवों में जाकर वैक्सीनेशन को लेकर किया जागरूक

राजगढ़, डेस्क रिपोर्ट। राजगढ़ में कलेक्टर ने वैक्सीनेशन और कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक करने का अभियान शुरू किया है। इसके तहत खुद कलेक्टर गांवों में जाकर चौपाल पर बैठकर ग्रामीणों को समझाइश दे रहे हैं और उन्हें वैक्सीनेशन कराने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। वहीं उनके मन से कोरोना के डर को दूर करने का प्रयास भी कर रहे हैं। कलेक्टर ग्रामीणों को बता रहे कोरोना की तीसरी लहर कभी भी आ सकती है, इसे रोकने के लिए मास्क पहनें। बड़े आयोजन से दूर रहें और हर गांव में रोजाना दस मिनट बैठकर कोरोना पर चर्चा करें।

दंपत्ति से लूट करने वाले दो बदमाश पकड़ाए, पुलिस ने बरामद किया लूट का माल

राजगढ़ कलेक्टर नीरज सिंह जिले की पंचायत जामुनिया जौहर में जाकर संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों के साथ जमीन पर बैठकर चर्चा की। कलेक्टर ने ग्रामीणों को बताया कि जिले में अगले दो माहों में 18 वर्ष से ऊपर के सभी व्यक्तियों को कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित करने टीकाकरण किया जाएगा। यह कार्य 200 से अधिक टीकाकरण केन्द्रों के माध्यम से किया जाएगा। इसके साथ ही टीकाकरण के बाद व्यक्ति के स्वास्थ्य की जानकारी भी खण्ड स्तरीय एवं जिला स्तरीय कंट्रोल रूम से तथा सर्वे में संलग्न अमले के द्वारा ली जाएगी। पंचायत स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्यों एवं ग्रामीणों से एक साथ एक दरी पर बैठक कर चर्चा के दौरान उन्होने कहा कि कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद कुछ लोगों को बुखार आता है और कुछ लोगों को नहीं भी आता है। इससे किसी को डरने और घबराने की जरूरत नही। कोरोना वैक्सीन लगने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है और शरीर कोरोना वायरस से लड़ने के लिए तैयार होता है तथा व्यक्ति कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित रहता है।

इस अवसर पर उन्होने समूह के सदस्यों से कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर अभी गई नही है। लापरवाही से तीसरी लहर कब आ जाए कहा नही जा सकता है। कोरोना की तीसरी लहर बच्चों को प्रभावित कर सकती है। इलाज के लिए अस्पताल दौड़े इससे अच्छा है कि बीमारी को अपने घर ही न आने दें। सतर्क रहे और जागरूक रहें। मास्क लगाएं, साबुन-पानी से समय-समय पर हाथ धोएं और आपस में दूरी रखें। अनावश्यक घर से बाहर नही जाएं। इस हेतु पंचायत स्तरीय संकट प्रबंधन समूह के सदस्य प्रतिदिन ग्रामवासियों से सम्पर्क करें। दस मिनिट रोजाना उनके साथ बैठें, कोरोना वायरस संक्रमण से बचने का संदेष दें। उन्हे जागरूक करें, गरम पानी पीने तथा रोजाना भाप लेने, योग प्रणायाम करने और टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। उन्होने कहा कि बड़े शहरों से आने वाले व्यक्ति कोरोना वायरस संक्रमण लेकर ग्राम में न आ जाएं, इसका वे ध्यान रखें। सर्दी, जुकाम, बुखार होने पर अन्य किसी भ्रम में नही रहे। यह कोरोना संक्रमण है। तत्काल दवा लें और घर के सदस्यों से दूर रहें ताकि वे भी बीमार नही पड़े।