पीपीई किट पहनकर दूल्हा-दुल्हन ने रचाई शादी, कोरोना पॉजिटिव दूल्हा जा सकता है जेल

रतलाम, सुशील खरे। रतलाम में एक अनूठी शादी (marriage) हुई जिसमें न दुल्हन ने जोड़ा पहना न दूल्हा शेरवानी में सजा। दूल्हा दुल्हन ने शादी के दौरान पीपीई किट पहनी हुई थी। यहां तक कि पंडित और परिजन भी पीपीई किट (PPE kit) पहने थे। दरअसल दूल्हा कोरोना पॉजिटिव (corona positive) था और शादी के लिए वो कंटेनमेंट इलाके से नियमों के विरूद्ध निकलकर आया था। इस शादी में दूल्हा दुल्हन के परिजनों के साथ तहसीलदार और पुलिस जवान भी मौजूद थे।

कैबिनेट मंत्री भूपेंद्र सिंह कोरोना पाज‍िटिव, ट्वीट कर दी जानकारी

पीपीई किट पहनकर दूल्हा-दुल्हन ने रचाई शादी, कोरोना पॉजिटिव दूल्हा जा सकता है जेल

पीपीई किट पहने शादी रचा रहे दूल्हे का नाम है आकाश बोरासी और दुल्हन है नेहा। पीपीई किट पहनकर शादी करने की नौबत इसलिए आई क्योंकि दूल्हे की रिपोर्ट 14 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव आई थी। कोरोना संक्रमित होने के बाद से वह अपने घर में ही आइसोलेटेड था और प्रसाशन ने उसके घर के आसपास कंटेनमेंट क्षेत्र बना दिया था। आकाश इंजीनियर है और पुणे की एक कंपनी में काम करता है। उसकी दुल्हन रतलाम की ही रहने वाली थी। आकाश यहां शादी करने आया था लेकिन कोरोना संक्रमित होने के कारण वो घर में कैद हो गया। वहां कंटेनमेंट क्षेत्र बनने से वो बाहर नहीं निकल सकता था। लेकिन पूर्व निर्धारित विवाह कार्यक्रम के कारण सोमवार को उसकी शादी थी और नियमों को तोड़कर वो कंटेनमेंट क्षेत्र से बाहर निकल गया और पहुंच गया उस मैरिज हाल में, जहां शादी की तैयारी की गई थी। लेकिन इसी बीच किसी ने प्रशासन को सूचना दे दी। अधिकारी मौके पर पहुं और पहले तो उन्होने शादी न करने के लिए कहा लेकिन जब आकाश के घरवालों ने बताया कि उसकी दादी की ताबियत खराब है और वो अपने पोते की शादी देखना चाहती है तो अधिकारियों ने अनुमति दे दी। लेकिन ये शर्त रख दी गई कि दूल्हा दुल्हन सहित पंडित से लेकर परिजन भी पीपीई किट पहनेंगे।

शादी के लिए समय तय हुआ शाम का। तय समय पर तहसीलदार और पुलिस की मौजूदगी में शादी हुई। पीपीई किट पहनकर पंडित ने मंत्रोच्चार किये और सारी रस्में पूरी करवाई। पीपीई किट पहनकर ही दूल्हा दुल्हन ने अग्नि के फेरे लिए। शादी होने के बाद दोनों परिजनों के साथ रवाना हो गए। हालांकि आकाश और नेहा शादी के बंधन में बंध गए हैं लेकिन अब संभव है कि वो पुलिस के फेरे में पड़ जाएं। प्रशासन ने दूल्हे पर कंटेनमेंट से बाहर आने पर कार्रवाई करने की बात कही है।