MP News : महिला जज को बर्थडे विश करना वकील को पड़ा महंगा ,हुई जेल

मध्य प्रदेश रतलाम (Ratlam) में एक जज (judge) को रात को जन्मदिन विश करना एक वकील को भारी पड़ गया। जिसके बाद जज ने वकील (advocate) को सीधा जेल का रास्ता दिखा दिया।

भोपाल ,डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश रतलाम (Ratlam) में एक जज (judge) को रात को जन्मदिन विश करना एक वकील को भारी पड़ गया। जिसके बाद जज ने वकील (advocate) को सीधा जेल का रास्ता दिखा दिया। वकील के खिलाफ धोखाधड़ी (Fraud) और प्रतिष्ठा (Prestige) को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से जालसाजी करने तथा आईटी एक्ट (IT Act) की धाराओं के तहत मामले दर्ज किए गए हैं।

यह भी पढ़ें…..कांग्रेस ने तमिलनाडु और पुडुचेरी चुनाव के लिए किया स्क्रीनिंग कमिटी का गठन, दिग्‍विजय सिंह बने अध्यक्ष

दरअसल, 37 वर्षीय वकील विजय सिंह (Advocate Vijay Singh) ने 28 जनवरी की रात को करीब 1.11 बजे जज को जन्मदिन का संदेश भेजा था। जिसके बाद महिला जज (Female judge) ने वकील के खिलाफ 8 फरवरी को केस दर्ज किया गया था। जिसके बाद पुलिस ने वकील को घर से गिरफ्तार कर लिया। बता दें की आरोपी वकील ने प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट (जेएमएफसी) की इजाजत के बिना उनकी फेसबुक से एक फोटो डाउनलोड कर और जन्मदिन (Birthday) की बधाई के तौर पर उन्हें ई-मेल भेजा। जज का आरोप है कि ई-मेल में वकील ने एक अभद्र संदेश भी लिखा था।

गिरफ्तारी के बाद आरोपी विजय सिंह यादव ने निचली अदालत (Lower court) में जमानत की याचिका लगाई थी। जिसे अदालत ने खारिज कर दिया । इसके बाद आरोपी वकील के घरवालों ने मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की इंदौर बेंच (Indore Bench of Madhya Pradesh High Court) का दरवाजा खटखटाया। तीन मार्च को विजय सिंह यादव की जमानत पर सुनवाई होनी है। विजय सिंह यादव खुद ही अपना केस लड़ रहा है। उधर, आरोपी वकील का तर्क है कि उन्होंने सामाजिक कार्यकर्ता और जय कुल देवी सेवा समिति के अध्यक्ष के तौर पर जन्मदिन की बधाई दी थी।

वकील के खिलाफ दर्ज एफआईआर में IT एक्ट के साथ धोखाधड़ी, जालसाजी, किसी की छवि खराब करने के लिए आरोप लगाए गए हैं। पुलिस का कहना है कि ई-मेल पर संदेश भेजने के अगले दिन विजय ने जज को ग्रीटिंग कार्ड भेजा था।

यह भी पढ़ें…..Police Promotion: MP में पुलिसकर्मियों को पदोन्नति का तोहफा, यहां देखें लिस्ट