Satna News: यूरोपियन दंपत्ति ने सतना की 2 अनाथ लड़कियों को लिया गोद

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना जिले में संचालित मातृछाया ( Matra Chhaya ) के लिए आज खुशी का दिन है। यहां पर रह रहीं दो मासूम बच्चियों को यूरोप के माल्टा (Malta) शहर में रहने वाले दंपति ने गोद लिया है।

सतना, पुष्पराज सिंह बघेल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सतना जिले में संचालित मातृछाया ( Matra Chhaya ) के लिए आज खुशी का दिन है। यहां पर रह रहीं दो मासूम बच्चियों को यूरोप के माल्टा (Malta) शहर में रहने वाले दंपति ने गोद लिया है। यूरोप से सतना पहुंचे दंपति ने मातृछाया और न्यायालयीन प्रक्रिया (Judicial process) को पूरा करने के बाद दोनों बच्चियों को लेकर सतना से जबलपुर के लिए रवाना हो गए। यूरोपी दंपत्ति कल दिल्ली एंबेसी (Delhi embassy) में पहुंचेंगे उसके बाद यूरोप के लिए रवाना हो जाएंगे। दोनों बच्चियों को गोद लेने के बाद दंपत्ति काफी खुश नजर आए।

आपको बता दें कि 6 साल की निशा और 3 साल की मनीषा के माता पिता की मृत्यु साल 2019 को टीवी रोग से ग्रसित होने के कारण हो गई थी। अनाथ हो चुकी दोनों बच्चियों को 29 सितंबर साल 2019 को मातृछाया सतना लाया गया था। दोनों बच्चियों को टीवी का रोग होने के कारण उनका इलाज किया गया। इसके बाद जब भारत के 25 परिवारों ने टीवी होने कारण गोद लेने से इनकार कर दिया। तब एक एजेंसी के माध्यम से यूरोप के माल्टा शहर में रहने वाले यूरोपीयन दंपत्ति ने दोनों को गोद ले लिया। केलेवन चेचिया और उनकी पत्नी डायलीना दोनों बच्चियों को गोद लेने के लिए कारा नामक इंटरनेशनल एजेंसी से संपर्क किया था। और बच्चों को गोद लेने की प्रक्रिया पूरी की।

यह भी पढ़ें….International Women’s Day:महिलाओं के नाम CM कमल नाथ का ये संदेश

गोद लेने के बाद दोनों पति-पत्नी ने कहा कि वह काफी खुश हैं और यूरोप में बच्चियों को ले जाकर काफी खुश रखेंगे और उनका जीवन स्तर सुधारेंगे। आपको बता दें कि क्लेवन चेचिया ऑटो पार्ट्स का बिजनेस करते हैं। उनकी शादी 8 साल पहले हुई थी। संतान नहीं होने की वजह से उन्होंने बच्चों को गोद लेने का मन बनाया और दोनों बच्चों को गोद लेने के बाद उन्होंने कहा कि वे बहुत खुश हैं और उनकी पत्नी भी बहुत खुशी है। दोनों बच्चों को भी बहुत हैप्पी रखेंगे।