फिर वर्दी हुई शर्मसार, थाने में खुले आम रिश्वत लेते हुए आरक्षक कैमरे में हुए कैद, देखें Video

वीडियो (Video) सोशल मीडिया (Social Media) पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो में खनियाधाना थाने का पुलिस आरक्षक एक शख्स से रुपये लेते नजर आ रहे हैं।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। प्रदेश में भले ही सरकार बदल गई हो और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भ्रष्टाचार समाप्त करने की लगातार बात कह रहे हो। बावजूद इसके पुलिस है कि सुधरने का नाम नहीं ले रही है। हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्युंकि जिले के पिछोर अनुविभाग में पुलिस कर्मियों के लेनदेन की वीडियो लगातार सामने आ रहे हैं।

ये भी पढे़– RTI ने दिखाया आईना, देश में सर्वाधिक तेंदुओं का शिकार MP में, राजस्थान दूसरे नंबर पर

पूर्व में मायापुर थाने में पदस्थ आरक्षक की भी एक पैसा लेते हुए वीडियो वायरल हुआ था। लेकिन, शिवपुरी एसपी ने मामला गंभीरता से लेते हुए आरक्षक की लाइन अटैच कर दिया था। अब हम मामला बता रहे हैं खनियाधाना थाने का एक पुलिसकर्मी फरियादियों से पैसा लेता नजर आ रहा है। साथ-साथ वीडियो (Video)  में उन्हें पूरी मदद का आश्वासन दे रहा है। वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर जमकर वायरल हो रहा है। इस वीडियो (Video)  में खनियाधाना थाने का पुलिस आरक्षक एक शख्स से रुपये लेते नजर आ रहे हैं और वीडियो वायरल (Video Viral) होने के बाद आरक्षक फरियादियों को धमका रहा है ऐसा फरियादियों का आरोप है।

यह है मामला

जीतू रजक निवासी नाम का लड़का उड़ीसा से शादी करके लड़की को दुर्गापुर पिछोर लाया था। पत्नी वर्षा के साथ उसकी छोटी बहन मानसी बहरा उम्र 12 वर्ष भी आई थी। जीतू अपनी पत्नी वर्षा को लेकर दिल्ली काम करने चला गया था।

बरसा कि छोटी बहन मानसी बहरा को जीतू अपने चाचा के पास छोड़ गया था। जीतू ने दिल्ली में 4 साल तक काम करता रहा फिर दिल्ली से वापस आया। तो उसने पाया कि पैसों के लिए अनिल रजक नामक व्यक्ति से उसकी पत्नी की छोटी बहन की शादी की गई है, और वह उसे मारपीट भी करता है। ऐसे में एक दिन मानसी बहरा उम्र 16 वर्ष अपने चाचा को फोन लगाती है और रो-रो कर कहती है कि चाचा मुझे बचा लो यह लोग मेरी जान ले लेंगे।

ये भी पढे़- अंत्येष्टि राशि देने के बदले मांगी रिश्वत, कलेक्टर और CM Helpline पर पहुंची शिकायत

तो फिर चाचा बाबू लाल रजक ने खनियांधाना थाना में आवेदन दिया। तभी पुलिस आवेदन के मुताबिक लड़की को थाने लेकर आई और लड़की की उम्र जांच के लिए उसे शिवपूरी भेज दिया गया। पुलिस वालों ने फरियादियों को अपराधी बनाते हुए लड़के के चाचा बाबूलाल रजक ओर उसके लड़के को 4 दिन तक थाने में रखा और छोड़ने के 27 हजार रुपये की मांग की, और पैसे लेकर चाचा को छोड़ दिया। जब पैसे दिए तो वीडियो (Video)  भी बनाई गई। लेकिन, अभी तक किसी पर  कोई कार्रवाई नहीं की गई। उलटा पुलिस वाले फोन लगाकर और पैसा मांग रहे हैं।