शिवपुरी में कोरोना गाइडलाइन्स की अनदेखी, बैंक में उमड़ रही भारी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग तार -तार

बाजारों व मोहल्लों में लोग कोरोना गाइडलाइन के पालन को लेकर लापरवाही (carelessness) बरत रहे है। स्थिति यह है कि बाजारों और दुुकानों (shops) पर लोग एकदम आसपास खड़े होकर खरीदारी कर रहे हैं। अधिकांश लोग मास्क (mask) तक नहीं लगा रहे हैं।

शिवपुरी

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। शिवपुरी जिले के पिछोर अनुविभाग के खनियाधाना से कोरोना गाइडलाइन्स (corona guidelines) की अनदेखी करने की खबर सामने आ रही हैंं। पिछोर अनुविभाग में कोरोना का कहर तेज होता जा रहा है। कुछ दिनों से लगातार कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का सिलसिला भी जारी है। वहीं दूसरी ओर जिले (district) के ज्यादातर बाजारों व मोहल्लों में लोग कोरोना गाइडलाइन के पालन को लेकर लापरवाही (carelessness) बरत रहे है। स्थिति यह है कि बाजारों और दुुकानों (shops) पर लोग एकदम आसपास खड़े होकर खरीदारी कर रहे हैं। अधिकांश लोग मास्क (mask) तक नहीं लगा रहे हैं। सोशल डिस्टेंस का भी पालन नहीं किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें… मुरैना जिला अस्पताल में दम तोड़ रहीं व्यवस्थाएं, न बेड है न ऑक्सीजन, गेट पर नोटिस चस्पा

शिवपुरी जिले भर में कोरोना संक्रमण अपनी पूरी ताकत से अपना कहर बरसा रहा है। कोरोना को काबू में करने के लिए सरकार ने कोरोना कर्फ्यू (corona curfew) लगाया है लेकिन इससे भी कोरोना की चेन ब्रेक नहीं हो रही है। ऐसे मैं बड़ी खबर खनियाधाना SBI स्टेट बैंक के सामने आ रही है जहां ग्राहको की भीड़ में कोरोना भी कुचल गया होगा। बैंक के द्वार पर लोगों की उमड़ रही भीड़ को देखकर लगता हैं बैंक आज दान में पैसे बांट रहा हो। जैसा कि विदित है कि एक छोटे से वायरस ने विश्व को ऐसे ऐसे हालात दिखा दिए जो कभी किसी ने सपने में भी नहीं सोचा होगा। लोगो को आपस में दूर रखने के लिए देश को लॉक किया गया। मेडिकली कर्फ्यू लगाया गया जिससे देश में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन हो।लेकिन खनियाधाना के एसबीआई भारतीय स्टेट बैंक से जो तस्वीर आ रही हैं वह बेहद डरावनी है। फोटो में आप बैंक प्रबंधन की लापरवाही साफ देख सकते हैं।

यह भी पढ़ें… हाईकोर्ट- चुनाव आयोग के अधिकारियों पर हो हत्या का मामला दर्ज

बैंक प्रबंधन ने ऐसा कुछ नही किया कि बैंक में आने वाले ग्राहक सोशल डिस्टैंस का पालन कंरे। यह भीड़ ना तो मास्क लगाए हैं ना ही यह सैनेटाइजर का प्रयोग कर रही है। अगर इस भीड़ में एक भी कोरोना से सक्रंमित है तो यह पूरी भीड़ को संक्रमित कर सकता हैं। बैंक कर्मियों को भी मालूम है कि मनरेगा के जाबकार्डधारकों, विधवा, वृद्धावस्था पेंशनर के साथ ही जनधन खाते में पैसा पहुंचने के बाद लोग उसे निकालने के लिए इन दिनों उतावले हैं। जब 10 बजे कर्मचारी पहुंचे तब तक सैकड़ों लोग बाहर जमा हो चुके थे। इसके बावजूद वहां भीड़ से किसी भी प्रकार के नियमों को मानने का आग्रह नहीं किया गया।