भाजपा के पूर्व विधायक के पिता का निधन, अंतिम यात्रा में जुटाई भीड़, मामला दर्ज

पूर्व विधायक

मोनू, प्रधान शिवपुरी। एक तरफ जहां कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति चल रही है वहीं दूसरी ओर राजनीतिक रसूख रखने वाले लोग कोविड-19 के नियमों को मुंह चिढ़ाते नजर आ रहे हैं। ताजा मामला शिवपुरी से सामने आय़ा है, यहां आज पूर्व विधायक देवेंद्र जैन ने अपने पिता के निधन के बाद ना सिर्फ अंतिम यात्रा निकाली बल्कि कोरोना नियमों को ताक पर रख जमकर भीड़ भी जुटाई।इस मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़े.. मप्र में गंभीर हो रही स्थिति, 12686 नए केस और 88 की मौत, सरकार ने बढ़ाई सख्ती

दरअसल,  बीते दिनों बीजेपी के पूर्व विधायक देवेंद्र जैन व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जितेंद्र जैन गोटू के पिता बच्चनलाल जैन बीमार हो गए थे, जिसके बाद उन्हें संक्रमण के चलते मेडिकल कॉलेज के अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया था, लेकिन उनकी कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी। इसलिए उनका अंतिम संस्कार कोविड गाइडलाइन से नहीं हुआ।  उनका अंतिम संस्कार बड़ौदी स्थित फार्म हाउस में किया गया।

वहीं प्रशासन ने कोविड के बिना नियम का पालन किए हुए बच्चनलाल जैन के पार्थिव देह को परिजनों को सौंप दिया या यूं कहें कि वह भाजपा के पूर्व विधायक व पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष के पिताजी हैं और रसूखदार भी, इसलिए उनके ऊपर सरकारी नियम कायदे कानून लागू नहीं होते ना ही कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुसार कोई पाबंदी लगाई जा सकती। अगर ऐसा होता तो शायद यह दृश्य दिखाई नहीं देता।

यह भी पढ़े.. शादी में 10 से ज्यादा को अनुमति नहीं, सीएम शिवराज सिंह बोले-कर्फ्यू का कड़ाई से पालन हो

इस दौरान कोरोना गाइडलाइन की भी जमकर धज्जियां उड़ाई गई। उनकी अंत्येष्टि में लगभग 200 से 300 लोग मौजूद थे जबकि कोविड-19 के अनुसार 20 लोगों को ही जाने की अनुमति है। अब अगर यह कोई साधारण जनता का आदमी होता और इस तरह की कोविड-19 की धज्जियां उड़ाया होता तो अब तक 188 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया होता। हालांकि पूर्व विधायक देवेंद्र जैन पर कोतवाली थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है।