Shivpuri : मंत्री बनाए जाने के सवाल पर बोले सिंधिया- ‘सेवक था सेवक रहूंगा’

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। केंद्रीय मंत्री बनाए जाने के सवाल पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने फिर दोहराया है कि उन्हें पद का कोई लोभ नहीं है। सिंधिया ने कहा कि “मैं 17 साल तक आपका सेवक रहा था, आज भी आपका सेवक हूं और जिंदगीभर आपका सेवक रहूंगा।” मंगलवार को शिवपुरी भ्रमण पर पहुंचे सिंधिया ने मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया और व्यवस्थाएं देखी। इस दौरान उन्होने पत्रकारों से चर्चा के दौरान ये बात कही।

Video : मंत्री पद के सवाल पर बोले सिंधिया- “मेरे DNA में नहीं है ये सब”

केन्द्रीय कैबिनेट के विस्तार और ज्योतिरादित्य सिंधिया को केन्द्रीय मंत्री बनाने की चर्चाओं के बीच वे शिवपुरी दौरे पर पहुंचे। यहां पत्रकारों ने जब सिंधिया से मंत्री पद को लेकर सवाल पूछा तो उन्होने कहा कि मैं हमेशा से आपका सेवक था और सेवक रहूंगा। इस दौरान उन्होने मेडिकल कॉलेज और जिला अस्पताल का निरीक्षण किया और स्वास्थ्य कर्मियों से मुलाकात कर उनका हालचाल जाना। सोमवार को सिंधिया की सुरक्षा में हुई चूक के बाद मंगलवार को उनकी सुरक्षा चाक-चौबंद नजर आई। ज्योतिरादित्य सिंधिया की सुरक्षा का जिम्मा खुद ग्वालियर डीआईजी ने उठाया।

सिंधिया ने मेडिकल कॉलेज के सभागार में चिकित्सकों को संबोधित किया और कहा कि कोरोना के विरुद्ध जंग में चिकित्सकों की भूमिका महत्वपूर्ण रही है। जिस प्रकार किसान कड़ी मेहनत करता है तब फसल पाता है उसी प्रकार कठिन परिश्रम करके अपने सपने को साकार किया है। वास्तव में हमारे चिकित्सक जीवनदाता हैं जिन्होंने कोविड महामारी के दौरान मरीजों का इलाज कर अपना कर्तव्य निभाया है। उन्होने कहा कि कुछ वर्षों पूर्व शिवपुरी का नागरिक स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए शहर से बाहर जाता था। शिवपुरी जिलेवासियों को स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए परेशान ना होना पड़े इसलिए मेडिकल कॉलेज की नींव रखी गई। जिले में मेडिकल कॉलेज की स्थापना के लिए प्रयास किए गए। आज यह मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो गया है और लगातार प्रगति कर रहा है। आने वाले समय में यह कई लोगों को स्वास्थ्य लाभ पहुंचाएगा। यहां आधुनिक संयंत्र, उपकरण आदि लगाए जा रहे हैं। धीरे धीरे कॉलेज में व्यवस्थाओं को और मजबूत किया जा रहा है। इस अवसर पर पोहरी विधायक एवं लोक निर्माण विभाग राज्य मंत्री सुरेश धाकड़ राठखेड़ा, कोलारस विधायक वीरेंद्र रघुवंशी, पूर्व विधायक जसवंत जाटव, डीआईजी राजेश हिंगणकर, डीन अक्षय निगम, कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल, जिला पंचायत सीईओ एच पी वर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।