शिवपुरी कलेक्टर के सख्त निर्देश, शादी समारोह की सूचना न देने पर इन अधिकारियों पर होगी कार्रवाई

शिवपुरी कलेक्टर ने कहा कि अगर समय पर सूचना न दी गई तो कोटवार, सचिव और जीआरएस के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

शिवपुरी, शिवम पाण्डेय। शिवपुरी (Shivpuri) जिले में कोरोना संक्रमण (Corona infection) को नियंत्रित करने के लिए कोरोना कर्फ्यू (Corona curfew) लगाया गया है। वहीं जिले में शादी समारोह पर भी रोक लगाई गई है। इसी तारतम्य में कलेक्टर (Collector) अक्षय कुमार सिंह ने सख्त निर्देश जारी किये है। कलेक्टर ने कहा है कि गांव में यदि कहीं भी शादी समारोह की सूचना मिलती है तो उसकी जानकारी तत्काल कोटवार, सचिव, ग्राम रोजगार सहायक उपलब्ध कराएं। वहीं अगर समय पर सूचना न दी गई तो कोटवार, सचिव और जीआरएस के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें…शिवपुरी के इस सांसद ने लिखा सीएम शिवराज को पत्र, रसोई गैस वितरक को कोरोना वॉरियर का दर्जा देने की मांग

बैठक में कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने सभी एसडीएम और नोडल अधिकारियों की समीक्षा करते हुए जानकारी ली। बैठक में राशन वितरण, आयुष्मान कार्ड, मुख्यमंत्री कोविड-19 बाल कल्याण योजना आदि पर भी चर्चा की गई। साथ ही निर्देश दिए गए हैं कि सभी जनपद सीईओ और नगर पालिका अधिकारी आयुष्मान कार्ड के कार्य में प्रगति लाएं। इसमें जनपद और नगर पालिका द्वारा अपनी टीम को लगाया जाए जिससे कि पात्र हितग्राहियों को लाभ मिल सके।

गौरतलब है कि लोगों को कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) का पालन करने के लिए समझाइश भी दी जा रही है। लगातार अधिकारी भी क्षेत्र में भ्रमण कर रहे हैं। कलेक्टर सिंह ने नोडल अधिकारी नियुक्त कर उन्हें वार्डवार और सभी विकासखंडों में जिम्मेदारी दी है। सभी नोडल अधिकारियों के अंतर्गत सेक्टर अधिकारी और ग्राम व वार्ड स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समूह भी गठित किए गए हैं। जिससे कि स्थानीय स्तर तक कोई भी संदेश बेहतर ढंग से पहुंचाया जा सके और कोरोना कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराया जा सके। जिले में पिछले कुछ दिनों में कोरोना के केस कुछ कम हुए हैं, लेकिन अभी भी पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में भी संक्रमण फैल रहा है। ऐसे में सख्ती होना जरूरी है। शादी समारोह में भीड़ एकत्रित होने से संक्रमण की आशंका होती है। इसलिए कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने समस्त एसडीएम और एसडीओपी को भी निर्देशित किया है कि अपने क्षेत्र में कड़ी निगरानी रखें और उल्लंघन करने वालोंं पर कार्रवाई करें।

यह भी पढ़ें…आपदा में सेवा नहीं, आग लगाते दिख रहे कमलनाथ- नरोत्तम मिश्रा