सीधी बस हादसा: 47 शव बरामद, बुधवार को भी जारी रहेगा रेस्क्यू ऑपरेशन 

अबतक 42 यात्रियों की मौत की पुष्टि की जा चुकी हैं। सीधी में हुई बस दुर्घटना को देखते हुए आज मध्यप्रदेश कैबिनेट की बैठक स्थगित कर दी गई है।

सीधी, डेस्क रिपोर्ट।मध्यप्रदेश (madhya pardesh) के सीधी (sidhi) जिले में मंगलवार को हुए  एक दर्दनाक सड़क हादसे ने प्रदेश को झकझोर दिया। मंगलवार सुबह 7:30 बजे एक बस अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी है। देखते ही देखते बस नहर में समा गई और बस में बैठे यात्री अपनी जान के लिए किसी से गुहार भी नहीं लगा पाए। बताया जा रहा है कि बस में 54 लोग सवार थे। दुर्घटना के बाद से लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

Read More – तेज रफ़्तार कार अनियंत्रित होकर खाई में गिरी, एक व्यक्ति की मौत, तीन घायल

पुलिस और प्रशासन की टीमें नहर में दुबे लोगों को गोताखोरों की मदद से तलाश रही हैं बताया गया है कि अभी तक 47 यात्रियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। कलेक्टर रविंद्र चौधरी ने इसकी पुष्टि की है। हादसे में मरने वालों के परिजनों को सरकार ने 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है। उधर सीधी बस दुर्घटना पर कांग्रेस ने सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस ने सवाल किया है कि  सरकार RTO पर मेहरबान क्यों है?

सीधी में मंगलवार को हुई ह्रदय विदारक दुर्घटना में चंद मिनटों में ही 47  जिंदगियां काल के गाल में समां गई।  दुर्घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुँच गई।  प्रशासन ने तत्काल रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया,  NDRF की टीम में 47 शवों को नहर के पानी से बाहर निकाला। कलेक्टर रविंद्र चौधरी ने 47  लोगों के मरने की पुष्टि की है उन्होंने कहा कि 44 शवों को घटनास्थल से भेजा जा चुका है, 3 शव अभी यहीं है क्योंकि उनके अभी और परिजन मिसिंग हैं। कलेक्टर ने कहा कि 4 – 5 लोगों की मिसिंग होने की जानकारी मिली है जिनका पता लगाने के लिए बुधवार को सुबह से फिर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया जाएगा।  उन्होंने बताया कि सभी मृतकों की शिनाख्त हो गई है।

दरअसल बस सीधी से सतना जा रही थी। मोड लेने के कारण बस पुल से सीधे नहर में जा गिरी। नहर गहरी होने के कारण बस पूरी तरह से उसमें डूब चुकी है। नहर में पानी के बहाव तेज है। जिनको रोकने के लिए बाणसागर डैम से निकलने वाले पानी को भी बंद कर दिया गया है। वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) ने सीढ़ी कलेक्टर से चर्चा की है।

Read Moreशिवराज सरकार ने होमगार्ड नियम में किया संशोधन, मिलेगा लाभ

प्रशासन द्वारा नहर में फंसे लोगों का रेस्क्यू शुरू किया गया, क्रेन मौके पर पहुंच गई बड़ी संख्या में ग्रामीण हादसे की जगह पर इकट्ठे हो गए। 7 लोगों को रेस्क्यू कर निकाल लिया गया और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। बताया जा रहा है कि यह घटना रूट बदलकर चलने की वजह से हुई बस आने जाने का चुहिया घाटी मार्ग से परमिशन दी गई है लेकिन जाम लगे होने की वजह से बस संचालक रूट बदलकर सतना पहुंचते हैं। जिला प्रशासन की घोर लापरवाही उजागर हो रही है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दी जानकारी

बस दुर्घटना पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि बाणसागर की नहर काफी गहरी है। हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया, राहत और बचाव दलों को रवाना किया कलेक्टर एसपी एसडीआरएफ की टीम वहां है। हाइड्रा क्रेन सारे संसाधन पहुंचे हैं बस निकालने के प्रयास हो रहे हैं। जानकारी देते हुए सीएम शिवराज ने बताया कि एंबुलेंस डॉक्टर बाकी सभी व्यवस्थाएं वहां की हुई हैं और हमारी भरसक कोशिश यह है कि हम अपने भाई बहनों को बचा पाए लेकिन ऐसी परिस्थिति में मेरा भी पूरा दिमाग शरीर, मन, बुद्धि और आत्मा उन्हीं यात्रियों में लगी हुई है। इसलिए आज कार्यक्रम करना उचित नहीं होगा।

सीएम शिवराज ने कहा कि मैं भी तुरंत राहत और बचाव कार्य कार्य करने वाली टीम के संपर्क में सुबह 8:00 बजे से हूँ, लगातार उन्हीं के संपर्क में रहना चाहता हूं। 7 साथी बचाए जा चुके हैं। कोशिश यह है कि अपने भाई बहनों को सुरक्षित बचा पाए। मेरी आप सब से भी प्रार्थना है आप अपने अपने स्थान पर भगवान से यह प्रार्थना करें कि वे सुरक्षित रहें सुरक्षित निकल आएं। आज का कार्यक्रम हम स्थगित करते हैं। इसे फिर और किसी अवसर पर करेंगे।

सीएम शिवराज ने दो मंत्रियों को सीधी रवाना किया

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर जलसंसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और पंचायत राज्य मंत्री राम खेलावन पटेल को स्टेट प्लेन से सीधी दुर्घटना स्थल रवाना किया। सीधी जिले में बाण सागर नहर में बस गिरने से हुई दुर्घटना के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन और प्रभावित परिवारों की मदद के लिए दोनो मंत्री बल्लभ भवन से सीधे स्टेट हेंगर रवाना हो चुके है।

कांग्रेस का सवाल – सरकार RTO पर मेहरबान क्यों है?

सीधी हादसे पर कांग्रेस (Congress) आक्रोशित है कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता केके मिश्रा (KK Mishra ) ने ट्वीट करते हुए शिवराज सरकार पर निशाना साधा है।  केके मिश्रा ने लिखा – सीधी बस दुर्घटना 54 में से 45 शव मिले,32सीटों की क्षमता वाली बस में 54 यात्री कैसे? सरकार RTO पर मेहरबान क्यों?सरकार ने भेजा जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट को,परिवहन मंत्री गोविंदसिंह राजपूत को क्यों नहीं,वे एक मंत्री के घर भोज में थे शामिल?क्या नहर मौत के नज़दीक गई या निरंकुश बस?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here