Singrauli Unlock : सड़कों पर मोरवा पुलिस, बिना मास्क के घूम रहे लोगों को भेजा अस्थाई जेल, कराया पैदल मार्च

बिना मास्क पहने लोगों के लिए मोरवा पुलिस ने अनोखी सजा दी। ऐसे 34 लोगों को पकड़कर 2 घंटों तक फल मंडी में अस्थाई रूप से बनाई खुली जेल में रखा।

सिंगरौली, राघवेन्द्र सिंह गहरवार। देश-विदेश के साथ वैश्विक महामारी कोरोना (corona) की चपेट में आए सिंगरौली (Singrauli) जिले को भी 53 दिन बाद लॉकडाउन (Lockdown) से निजात मिल गई है। इस दौरान संक्रमण की रफ्तार को घटाने के लिए अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया में प्रशासन के साथ लोगों की भी जिम्मेदारियां बढ़ गई हैं।

सिंगरौली में भी अनलॉक के बाद शासन द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन हेतु सुबह से ही मोरवा निरीक्षक मनीष त्रिपाठी दल-बल के साथ क्षेत्र भ्रमण पर रहे। जहां ऑड-ईवन की तर्ज पर प्रतिदिन एक तरफ की दुकानें खुलने का आदेश जारी हुआ था। उसे लेकर पुलिस ने व्यापारियों को 2 गज की दूरी के साथ निश्चित अवधि के दिनों में ही दुकानें खोलने की हिदायत दी।

यह भी पढ़ें…अलीराजपुर : न मास्क न सोशल डिस्टेंसिंग, प्रदेश की सबसे बड़ी आम मंडी में उड़ी कोरोना नियमों की धज्जियां

थाना प्रभारी मनीष त्रिपाठी ने बताया कि शहर में 1 जून से लॉकडाउन खोल दिया गया है। लेकिन हमें जागरूक रहना है। मास्क का उपयोग जरूर करना करना है। साथ ही दुकानों में भीड़ ना बढ़ाकर 2 गज की दूरी भी बनाए रखना है। इस दौरान व्यापारियों के साथ कुछ खरीददार भी बिना मास्क के सामानों की खरीदी में जुटे दिखे। जब इस पर मोरवा पुलिस की नजर पड़ी तो लोग भागते दिखे। जिसके बाद बिना मास्क पहने लोगों के लिए मोरवा पुलिस ने अनोखी सजा दी। पुलिस ने ऐसे 34 लोगों को पकड़कर 2 घंटों तक फल मंडी में अस्थाई रूप से बनाई खुली जेल में रखा। जिसके बाद फल मंडी से लेकर सरस्वती विद्यालय तक पैदल मार्च कराकर जुलूस निकाला। इसके अलावा पकड़े गए लोगों के द्वारा मास्क लगाना कितना जरूरी है इसके नारे भी लगवाए गए। आखिर में जो व्यक्ति बिना मास्क के थे। उन्हें फ्री मास्क भी दिया गया।

यह भी पढ़ें…गुना : कलेक्टर के सख्त तेवर, कनिष्ट आपूर्ति अधिकारी निलंबित