उज्जैन: दिन-दहाड़े सनसनीखेज वारदात, मवेशी पालन के मामूली विवाद पर युवक को उतारा मौत के घाट

किसी तरह से गोविंद आरोपी आशु के घर से बाहर निकलकर सड़क पर गिर पड़ा तो आरोपियों ने वहां भी उसकी पिटाई शुरू कर दी। इसके बाद उसे बाइक में लिटाकर उसके घर के सामने पटक दिया।

Youth-killed-father-mother-and-wife--7-year-old-son-seriously-injured-in-raisen-

उज्जैन, डेस्क रिपोर्ट। उज्जैन (ujjain), महाकाल की नगरी में मवेशी पालन (cattle rearing) जैसे मामूली विवाद पर मामला इतना बढ़ गया कि कुछ लोगों ने मिलकर एक युवक को लाठी, घूसों से मार-मार कर मौत के घाट उतार दिया। मार खाते हुए पीड़ित के बेहोश (unconscious) हो जाने के बाद भी ये हत्यारे रुके नहीं और बेहोशी की हालत में भी मिलकर युवक को मारते रहे। इसके बाद उसे मरणासन्न हालत में छोड़कर वहां से भाग निकले। परिवार वालों ने उसे अस्पताल (hospital) में भर्ती करवाया लेकिन इलाज के दौरान युवक ने दम तोड़ दिया। इस पूरी घटना का वीडियो किसी व्यक्ति ने छुप के रिकॉर्ड कर लिया था जो सोशल मीडिया पर जम कर वायरल हो रहा है।

यह भी पढ़ें… आज से दिल्ली Unlock की ओर, इन राज्यों में लॉकडाउन बढ़ा

दरअसल, संत बालीनाथ नगर में रहने वाला गोविंद उम्र 26 पिता राजेश लकवाल मवेशी पालन का काम करता था। लवकुश नगर में रहने वाला आशु डागर भी यही काम करता था। गोविंद और आशु डागर के बीच मवेशी पालन को लेकर कुछ मसला हुआ। जिसके बाद आरोपी आशु डागर ने गोविंद को उसके घर पर बात करने के लिए बुलाया। यहां पहले से ही आशु डागर के साथी लाला भाट, विशाल भाट, सागर भाट, दीपक और भय्यू लाठियों के साथ मौजूद थे। जैसे ही गोविंद वहां पहुंचा, आशु डागर के सभी साथी उस पर लाठी-डंडों के साथ टूट पड़े।

गोविंद को मारने के लिए उन्होंने कोई कसर नहीं छोड़ी। उसकी पिटाई लाठी, डंडों, रॉड, चाकू आदि से की। इन सबने मिलकर गोविंद को अधमरा होने तक बहुत मारा। किसी तरह से गोविंद आरोपी आशु के घर से बाहर निकलकर सड़क पर गिर पड़ा तो आरोपियों ने वहां भी उसकी पिटाई शुरू कर दी। इसके बाद उसे बाइक में लिटाकर उसके घर के सामने पटक दिया।

यह भी पढ़ें… जबलपुर : 12 वर्षीय बालक की हत्या, दो दिन से था लापता

परिवार वालों ने जब गोविंद को देखा तो तुरंत उसे अस्पताल में भर्ती करवाया। अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद उसे इंदौर रेफर कर दिया गया। इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती होने पर उपचार के दौरान ही गोविंद ने दम तोड़ दिया।