जल संसाधन मंत्री ने किया तिघरा बांध का निरीक्षण, जल क्षमता बढ़ाने की कार्ययोजना बनाने के निर्देश

जल संसाधन मंत्री ने निर्देश दिए कि पेहसारी बांध से तिघरा बांध को भरने वाली कैनाल की क्षमता वृद्धि की दिशा में भी योजना बनाकर प्रस्तुत करें।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  मध्यप्रदेश के जल संसाधन मंत्री एवं ग्वालियर जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट (tulsiram silawat) इन दिनों ग्वालियर (gwalior) के दौरे पर हैं। वे बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर रहे हैं और ग्वालियर चम्बल संभाग (gwalior chambal division) के बांधों का निरीक्षण कर रहे हैं। शनिवार को जल संसाधन मंत्री ग्वालियर के तिघरा बांध पर पहुँचे। उन्होंने तिघरा बांध की वर्तमान स्थिति और उसमें पानी की उपलब्धता के संबंध में विभागीय अधिकारियों से चर्चा की। जल संसाधन मंत्री ने कहा कि तिघरा एक मात्र बांध है, जिसके माध्यम से पूरे ग्वालियर शहर में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित होती है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि बांध की जल क्षमता को बढ़ाने की दिशा में एक कार्ययोजना तैयार करें। उन्होंने यह भी निर्देशित किया कि पेहसारी बांध से तिघरा बांध को भरने वाली कैनाल की क्षमता वृद्धि की दिशा में भी योजना बनाकर प्रस्तुत करें।

जल संसाधन एवं ग्वालियर जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि जल संसाधन मंत्री ने कहा कि यहाँ लोग घूमने भी आते हैं इसलिए तिघरा बांध के प्रवेश स्थल पर एक आकर्षक प्रवेश द्वार बनाया जाये। उन्होंने बांध को गंदगी से मुक्त रखने के लिये विभागीय अधिकारियों को नियमित सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए। तिघरा बांध में लोग गंदगी न करें, इसकी निगरानी भी विभागीय तौर पर की जाए। बांध में नहाने और अन्य गतिविधियों पर जिससे गंदगी होती है प्रतिबंध लगाया जाए। उन्होंने पर्यटन विभाग द्वारा संचालित किए जा रहे बोट क्लब के आस-पास भी साफ-सफाई रखने के दिशा-निर्देश दिए। तिघरा बांध पर आने वाले पर्यटकों को खाने-पीने की व्यवस्था उपलब्ध हो, इसके लिये कैन्टीन संचालन का प्रस्ताव भी रखने के निर्देश दिए।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : एसपी का बड़ा एक्शन, टीआई सहित 10 पुलिसकर्मी लाइन अटैच

मंत्री श्री सिलावट ने जल संसाधन विभाग के विभागीय अधिकारियों को भी स्पष्ट रूप से कहा है कि तिघरा बांध की व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद रखने में कोई ढिलाई न बरती जाए। संधारण के कार्य को भी सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए किया जाए। बांध की सुरक्षा और पानी की आवक पर भी निरंतर नजर रखी जाए।

ये भी पढ़ें – MP Flood: बचाव एवं राहत का काम में जुटी NDRF की टीम, पहुँचा सेना का एक दस्ता

मंत्री तुलसीराम सिलावट ने पौधा लगाया 

जल संसाधन एवं प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने निरीक्षण के दौरान बांध परिसर में पौधा भी लगाया। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि तिघरा बांध के आस-पास हरियाली और साफ-सफाई हो, इसके लिये विशेष प्रयास किए जाएं। बरसात के दौरान पौधरोपण का कार्य अधिक से अधिक किया जाए ताकि पूरा परिसर हरा-भरा हो सके। उनके साथ भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी, तिघरा पंचायत के सरपंच दशरथ सिंह यादव सहित जनप्रतिनिधि और जल संसाधन विभाग के विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

जल संसाधन मंत्री ने किया तिघरा बांध का निरीक्षण, जल क्षमता बढ़ाने की कार्ययोजना बनाने के निर्देश

ये भी पढ़ें – Satna : पीएम मोदी ने की हितग्राही से बात, पूछा- ‘कोई समस्या तो नहीं आती’